पीएम मोदी ने पूछा, बाराबंकी स्वच्छता में सबसे पीछे क्यों ?

पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्वच्छ भारत मिशन की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने योजना भवन में मौजूद मुख्य सचिव राजीव कुमार और बाराबंकी, चित्रकूट तथा श्रावस्ती के डीएम से बात कर उनके जिले में किए गए कामों की प्रगति जानी। पीएम मोदी ने पूछा, बाराबंकी स्वच्छता में सबसे पीछे क्यों ?
पीएम ने बाराबंकी के डीएम से पूछा कि उनका जिला सफाई में सबसे पीछे क्यों है? इस पर डीएम ने कहा कि सर बजट मिल गया है, जल्द ही काम पूरे हो जाएंगे। प्रधानमंत्री ने प्रदेश में अभियान को और रफ्तार देने को कहा है।

मुख्य सचिव ने प्रधानमंत्री को बताया कि प्रदेश ने जहां करीब 24 लाख शौचालय पूर्व के तीन वर्षों में बनाए थे वहीं सिर्फ एकवर्ष में रिकॉर्ड 36 लाख शौचालय बनवाए गए हैं। हालांकि तय समयसीमा में शौचालय बनाने का लक्ष्य हासिल करने के लिए अभी 1.10 करोड़ शौचालय बनवाए जाने हैं। 

अब तक चार जिले ही ओडीएफ हो पाए हैं। प्रधानमंत्री ने मुख्य सचिव से सफाई में सबसे पिछड़े जिले का नाम पूछा तो उन्होंने बाराबंकी का नाम लिया। इस पर पीएम मोदी सीधे डीएम से मुखातिब हुए और पूछा कि आपका जिला सबसे पीछे क्यों है।

देवां और महादेवा की तरह चमकाइए 

डीएम अखिलेश तिवारी ने बताया कि सर बजट मिल गया है। हम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। दो अक्तूबर तक पूरा जिला ओडीएफ बना देंगे। इस पर पीएम ने उनके पीछे लगी देवां और महादेवा की तस्वीर को दिखाते हुए कहा कि जिले को इसी तरह चमकाइए। 
इसके बाद श्रावस्ती के डीएम दीपक मीणा ने पीएम को बताया कि उनके जिले में शौचालय बनाने का काम पूरा कर लिया गया है। पीएम ने चित्रकूट के डीएम शिवाकांत द्विवेदी से भी बात की। वहां अभी काफी काम बकाया है। उन्होंने द्विवेदी से भी मुश्किलों के बारे में बात की। मुख्य सचिव के साथ अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज चंचल कुमार तिवारी व निदेशक स्वच्छता मिशन आकाश दीप भी उपस्थित रहे।