पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और बेटी मरियम को गिरफ्तार कर एयरलिफ्ट करने की तैयारी में पकिस्तान


इस्लामाबाद : पनामा पेपर्स घोटालों मे गिरफ्तारी के खतरों के बीच 13 जुलाई को पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज पाकिस्तान वापस जा रहे हैं, वहीं नवाज की पार्टी पीएमएल-एन उनके वतन वापसी को लेकर लाहौर में बड़ी रैली करने जा रही है। बढ़ते तनाव को देखते हुए पाकिस्तान के नेशनल एकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (नैब) ने दो हेलिकॉप्टर की व्यवस्था की है जिससे उन्हें एयरपोर्ट के भीतर ही गिरफ्तार कर एयरलिफ्ट करके जेल भेजा जा सके। एक हेलिकॉप्टर लाहौर एयरपोर्ट जबकि दूसरा हेलिकॉप्टर इस्लामाबाद एयरपोर्ट पर तैनात किया जाएगा, जिससे वे दोनों मे से किसी भी एयरपोर्ट पर आएं तो उनकी गिरफ्तारी सुनिश्चित की जा सके। वहीं पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के लाहौर में पीएमएल-एन के मौजूदा अध्यक्ष और नवाज के भाई शाहबाज़ शरीफ, नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम के स्वागत में बड़ी रैली करने जा रहे हैं, बढ़ते तनाव की आशंका को देखते हुए एहतियातन 100 से ज्यादा पीएमएल-एन के नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया है।

ज्ञात हो, पाकिस्तान की एहतिसाब (जवाबदेही) अदालत ने पनामा पेपर्स कांड से जुड़े भ्रष्टाचार के तीन मामलों में से एक में अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को 10 साल की कैद की सजा सुनाई थी। इसी मामले में उनकी बेटी मरियम को 7 साल की कैद की सजा सुनाई थी। मरियम को 25 जुलाई को होने वाले आम चुनावों में लड़ने से अयोग्य घोषित की जा चुकी हैं। वहीं इसी मामले में उनके पति कैप्टन (रिटायर्ड) मुहम्मद सफदर को नैब रावलपिंडी से गिरफ्तार किया जब वे एक रैली संबोधित कर रहे थे। एहतिसाब (जवाबदेही) अदालत ने नवाज के दामाद मुहम्मद सफदर को एक साल की सजा सुनाई थी। वहीं अदालत नें नवाज शरीफ के बेटों- हसन नवाज और हुसैन नवाज की गिरफ्तारी का वारंट भी जारी किया हुआ है।