फिल्म ‘संघर्ष’ में अक्षय-प्रीति के साथ दिखने वाली बच्ची आज है टाॅप की हीरोइन

- in मनोरंजन


मुम्बई : करण जौहर डायरेक्टेड फिल्म ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ 2012 में रिलीज़ हुई थी। ऐसा बताया गया कि इस फिल्म से तीन नए लोग हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखने वाले हैं। डेविड धवन के बेटे वरूण धवन, करण की फिल्म में असिस्टेंट डायरेक्टर रहे सिद्धार्थ मल्होत्रा और महेश भट्ट की बेटी आलिया भट्ट। लेकिन ये गलत था, क्योंकि ये आलिया की पहली फिल्म नहीं थी। आलिया पहली बार अक्षय कुमार और प्रीति ज़िंटा की फिल्म ‘संघर्ष’ में दिखाई दी थीं। ‘संघर्ष’ 3 सितंबर, 1999 को रिलीज़ हुई थी। ये बतौर (चाइल्ड) एक्टर आलिया की डेब्यू फिल्म थी। ‘संघर्ष’ में आलिया ने प्रीति के बचपन का रोल किया था।

फिल्म में प्रीति का किरदार बचपन में अपने आतंकवादी भाई को मरते देख लेता है। इससे उसके दिमाग में एक तरह का डर बैठ जाता है, जो बड़े होने तक उसे परेशान करता रहता है। फिल्म के इसी बचपन वाले सीन में आलिया नज़र आईं थीं। ये फिल्म एक साइकोलॉजिकल थ्रिलर थी, जिसमें एक आदमी (आशुतोष राणा) बच्चों को किडनैप कर उनकी बली चढ़ा देता हैं, ताकि वो अमर हो जाए। बच्चों के गायब होने वाले इस केस की इन्वेस्टीगेशन का जिम्मा प्रीति को सौंपा जाता है, जो एक सीबीआई ऑफिसर है। इस केस को सॉल्व करने में उसकी मदद करता है जेल में बंद एक कैदी, ये कैदी बने हैं अक्षय कुमार। इस केस को सॉल्व करने वाले प्रोसेस में प्रीति और अक्षय को प्यार हो जाता है, लेकिन केस के खत्म होने और बच्चों के किडनैपर को पकड़ने में अक्षय कुमार घायल हो जाते हैं, जिससे उनकी मौत हो जाती है। ‘संघर्ष’ की डायरेक्टर थीं तनुजा चंद्रा। वही तनुजा जिन्होंने 2017 में तनुजा ने इरफान और पार्वती के साथ ‘करीब करीब सिंगल’ बनाई थी।