बाप और बेटी ने किया कमाल, बनाया रिकार्ड


नई दिल्ली : दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाले पहले भारतीय पिता-पुत्री बने गुड़गांव में रहने वाले अजीत बजाज और दीया बजाज। 24 वर्षीय दीया बुधवार तड़के साढ़े चार बजे पर्वत शिखर पर पहुंची जबकि उनके पिता इसके 15 मिनट बाद एवरेस्ट को छूने में सफल रहे। अजीत और दीया ने बीते 16 अप्रैल को अपना अभियान शुरू किया था। अजीत की पत्नी शर्ली बजाज ने बुधवार सुबह साढ़े दस बजे दोनों से बात की। शर्ली ने बताया, अजीत और दीया विश्व के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर पर पहुंचने का अभियान पूरा कर बहुत खुश हैं। शर्ली ने कहा कि वे साफ तौर पर उत्साहित और खुश थे। दीया ने कहा कि उन्होंने एवरेस्ट से सूर्योदय होते देखा और वह एक खूबसूरत अनुभव था। उन्होंने कहा कि अजीत के लिए यह उपलब्धि और भी खास है क्योंकि इस बार वह अपनी बेटी के साथ गए हैं।
53 वर्षीय अजीत पद्मश्री से सम्मानित किए जा चुके हैं। वह 2006-2007 में एक साल के भीतर उत्तरी ध्रुव और दक्षिणी ध्रुव जाने वाले पहले भारतीय बन गए थे।