बाबाओं का एक और खुलासा : दाती महाराज का बिगड़ा ‘शनि’, साध्वी से रेप का मुकदमा हुआ दर्ज

बाबाओं की जमात में एक और नया नाम जुड़ गया, एक और बाबा बलात्कार के इल्जाम में घिर गए. एक और बाबा पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई. एक और बाबा के जेल जाने का सीन बनने लगा. अब तो सचमुच लगने लगा है जैसे आजकल बाबाओं से शनि रूठ गए हैं. अगर ऐसा नहीं होता तो इस बार खुद शनि महाराज यानी दाती महाराज मुश्किल में नहीं पड़ते. जी हां, बाबाओं की जमात में जो सबसे ताज़े बाबा फंसे हैं वो कोई और नहीं बल्कि दाती मदन महाराज हैं. दाती महाराज पर उनकी ही एक पूर्व शिष्या ने 2016 में दो अलग-अलग मौकों पर बलात्कार किए जाने का इलज़ाम लगाया है. हालांकि दाती महाराज की तरफ से कहा गया है कि ये सब कोरी साज़िश है और कुछ नहीं.

लुक को लेकर चर्चित रहे दाती महाराज

सिर पर महिलाओं की तरह लंबे, मगर बिल्कुल सीधे बाल. मानों हेयर स्ट्रेटनिंग की गई हो. चेहरे पर बढ़ी हुई, मगर करीने से संवारी गई दाढ़ी और काली दाढ़ी के बीचों-बीच ठीक ठुड्ढी वाली जगह पर सफ़ेद दाढ़ियों का एक छोटा सा गुच्छा. सांवला रंग, माथे पर तिलक, गले में रुद्राक्ष की माला और बदन पर लाल कपड़े. कुल मिलाकर, हुलिया कुछ ऐसा कि जो भी एक बार देखे तो कुछ देर तक बस देखता ही रह जाए. हाल के कुछ सालों में ये बाबा यूं ही तमाम टीवी चैनलों के चहेते नहीं रहे.

दाती मदन महाराज का सफर

इसे आप बाबा के हाव-भाव, खुद को कैरी करने यानी अपना आभा मंडल गढ़ने का तरीक़ा कहें या फिर कुछ और, दाती मदन महाराज ने मदन राजस्थानी से शनिधाम पीठाधीश्वर श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर परमहंस दाती जी महाराज का सफ़र जिस रफ्तार से तय किया, वैसा कम ही बाबा कर पाते हैं. छोटे-मोटे धार्मिक कर्मकांड, ज्योतिषीय सलाह देने और अपने स्तर पर समाजसेवा की कोशिश करने वाले दाती मदन महाराज की गितनी देश के बड़े, रसूखदार और नामचीन संतों में होती है.

दाती महाराज का शनि बिगड़ा

चूंकि मदन महाराज शुरू से शनि के उपासक रहे, तो उन्होंने शनि उपासना के तौर-तरीक़ों के साथ-साथ लोगों को शनि के गुस्से से बचने के गुर भी सिखाए और साथ ही ये जुमला भी उछाला कि शनि शत्रु नहीं मित्र है. बताया कि किस तरह शनि सिर्फ़ उसी पर कहर बनकर टूटता है, जो अपने धतकरमों से शनिदेव को नाराज़ कर देता है. लेकिन लोगों को ये सीख देनेवाले इन बाबा को शायद इस बात का गुमान नहीं था कि एक रोज़ शनि खुद इनसे रूठ जाएगा. शनि के गुस्से से खुद इनके आध्यात्म का शीशमहल चकनाचूर हो जाएगा और बलात्कार के इल्ज़ाम में घिरकर इनकी भी गिनती आसाराम और बाबा राम रहीम सरीखे बाबाओं में होने लगेगी.

10 जून 2018, रविवार. थाना फतेहपुर बेरी, दिल्ली

दिल्ली में एक लड़की ने दाती महाराज के खिलाफ़ फतेहपुर बेरी थाने में तहरीर दी कि बाबा ने उनके साथ दो साल पहले दो बार बलात्कार किया. एक बार दिल्ली के फतेहपुर बेरी के अपने शनि मंदिर में और दूसरी बार राजस्थान के पाली ज़िले में मौजूद आलावास के आश्रम में. लड़की की शिकायत इतनी भर नहीं थी, उसने कहा कि चूंकि बाबा बड़े रसूखदार हैं और उन्होंने इस बारे में मुंह खोलने पर बुरे नतीजे भुगतने की धमकी दी थी, इसीलिए वो अब तक इस बारे में किसी से कुछ नहीं कह सकी. लेकिन आख़िरकार अब वो हिम्मत बटोर कर क़ानून के सामने हाज़िर हुई है और बाबा को सज़ा दिलवाना चाहती है.

संगीन धाराओं में मामला दर्ज

चूंकि इल्ज़ाम संगीन थे पुलिस ने भी फ़ौरन बाबा और उनके कुछ सहयोगियों के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 354 यानी छेड़छाड़, 376 यानी बलात्कार, 377 यानी अप्राकृतिक यौनाचार और 34 यानी जुर्म करने में एकराय होने जैसे गुनाहों के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया. लड़की का कहना था कि वो पहले बाबा के आश्रम में ही रहती थी, क्योंकि उसके पिता बाबा के अनुयायी थे और उसे पढ़ने-लिखने के लिए बाबा के आश्रम में ही छोड़ दिया था. लेकिन बाबा का असली रूप देख कर बाद में दाती मदन महाराज से उसका मोह भंग हो गया और वो आश्रम छोड़ कर अपने घर चली गई.

दाती महाराज के खिलाफ जांच करेगी क्राइम ब्रांच

पीड़िता ने अपनी शिकायत में ये भी बताया कि जब उसके साथ दाती मदन महाराज ने ज़्यादती की, तो उसका दिल टूट गया और उसने आश्रम की ही एक पुरानी सेवादार से बाबा की करतूत का ज़िक्र किया, लेकिन उस महिला सेवादार का कहना था कि सभी ऐसा ही करते हैं. और उसे भी बाबा का कहना मानना ही पड़ेगा. लड़की ने यहां तक कहा कि वो महिला उसे दोबारा बाबा के पास छोड़ आई थी. चूंकि मामला बेहद गंभीर है लिहाजा जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के हवाले कर दी गई है.