बिहार में व्रजपात से 13 की मौत

- in BREAKING NEWS, राज्य

पटना : बिहार में कई जिलों में मंगलवार को व्रजपात से 13 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में सर्वाधिक बांका जिले के लोग शामिल हैं। बांका में एक महिला समेत पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि जमुई में चार लोगों की मौत होने की खबर है। इसके अलावा, नालंदा, भागलपुर, मुंगेर में व्रजपात से मौत होने की सूचना है। बता दें कि 20 जुलाई को भी मौत हुई थी। बांका में व्रजपात से अलग-अलग स्‍थानों पर पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि दो लोग झुलस गए हैं। बताया जाता है कि कटोरिया थाना क्षेत्र के टोना पाथर के खरगू ठाकुर व पड़रिया गांव के हरिहर यादव ट्रेन पकड़ने के इंतजार में खड़े थे। इसी दौरान वे दोनों वज्रपात की चपेट में आ गए। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। इसी तरह, रजौन की सिहनान पंचायत के पूर्व मखिया योगेंद्र पासवान के पुत्र अमरजीत पासवान की भी मौत वज्रपात से हो गई। बांका में मौत का सिलसिला यहीं नहीं थमा। जिले के लिखनिकोझी निवासी रामू राय की भी मौत वज्रपात से हो गई है। वे खेत में काम कर रहे थे, तभी माैसम बदल गया।

बारिश के साथ ठनका भी गिरा। उसकी चपेट में रामू आ गए। वहीं बांका के धोरैया में चीना देवी की मौत वज्रपात से होने की खबर है। दूसरी ओर, बांका से सटे जमुई जिले में भी व्रजपात का कहर देखने को मिला। जमुई जिले के खैरा में ठनका गिरने से दो वृद्ध की मौत हो गई। वहीं जमुई के नगर थाना क्षेत्र के हरला इलाके में भी दो बच्‍चे वज्रपात की चपेट में आ गए। इसी तरह, नालंदा के दीपनगर थाना क्षेत्र के विशुनपुर गांव में ठनका गिरने से दो लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा, भागलपुर के रंगरा थाना क्षेत्र में वज्रपात से मौत की सूचना है। बताया जाता है कि भीम दास टोला में ठनका की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई।