बुढ़ापे के लिए संजीवनी है सिंघारा, फायदे जानकर खा जायेंगे गपागप

- in स्वास्थ्य
बारिश के इस रूहानी मौसम में सिंघारा बाज़ार में अपनी दस्तक दे देता है। इसे बच्चे, बूढ़े और महिलायें सभी खूब मन छककर खाते सकते हैं। इसीलिए इसे सभी समान रूप से खाना पसन्द करते हैं। आपको बता दें कि सिंघारे को बतिया सहित कच्चे फल से लोग खाना शुरू कर देते हैं फिर पूरी तरह से पककर अकड़ जाने के बाद तक इसका सेवन किया जाता है। दिलचस्प बात तो यह है कि सिंघारे के सेवन में यह अपने हर पड़ाव पर अलग-अलग तरह से बहुत फायदा पहुँचाता है। इसलिए ज़रूरी है कि आपको यह जिस भी मौसम में मिले इसे तत्काल गपागप खा लीजिए।बुढ़ापे के लिए संजीवनी है सिंघारा, फायदे जानकर खा जायेंगे गपागप
किसी के द्वारा आपको सिंघारा ऑफ़र किये जाने पर अगर आपने इसे ठुकरा दिया तो फिर यह आपने बहुत बड़ी बेवकूफी वाला काम कर दिया है। इसलिए जब भी और जहाँ भी आपको सिंघारा मिले तो इसे चाप के साथ खाना चाहिए।
आपको बता दें कि सिंघारे में आयोडीन और मैंगनीज जैसे उपयोगी खनिज पाये जाते हैं। यह थायराइड ग्रंथि के उचित कामकाज को बनाए रखने में मदद करता है। इसके अलावा भी सिंघारे में कई ऐसे पोषक तत्व पाये जाते हैं जो हमारे शरीर के यौवन को बरकरार रखने में बहुत ही मदद करते हैं। यही कारण है कि यदि आप बुढ़ापे तक ख़ुद को चुस्त-दुरुस्त रखना चाहते हैं तो सिंघारे का सेवन हर हाल में करें।