बुधवार के दिन किन्नर को दे दें ये चीज, फिर देखिये किस्मत का खेल

- in अद्धयात्म

हमारे समाज में स्‍त्री पुरूष के अलावा भी एक वर्ग और है जिसे हम किन्‍नर के नाम से जानते हैं। किन्नर एक ऐसा समाज है जो हमेशा से ही दूसरों के लिए जिज्ञासा बनी हुई है। किन्‍नर वर्ग बाकि प्रजातियों से भिन्‍न होता है किन्‍नरों को समाज में तीसरा लिंग का दर्जा दिया गया है। कहा जाता है कि ये एक ऐसा समाज है जिनका वरदान और शाप दोनों ही लगते हैं। इनके रीति रिवाज तत ये जिसको भी दुआएं देते हैं वो सच में पूरी होती है वहीं इसके विपरीत अगर किन्‍नर गुस्सा होकर बददुआएं दे देते हैं तो वो भी पूरी हो जाती है।

अगर हम बड़े बूजुर्गों को बातों पर ध्‍यान दें तो कहा गया है कि अगर किन्नर किसी को मन से दुआ देता है तो वह अवश्य पूरी होती है इसलिए भूलकर भी किसी किन्नर की बद्दुआ ना लें। यही कारण है कि हमारे समाज में देखा जाए तो किन्नर को शादी विवाह, जन्मोत्सव आदि में बुलाया जाता है पर क्या आप जानते है की किन्नर समुदाय सिर्फ ऐसे उत्सवो में ही क्यों आते है जब कोई उत्सव चल रहा होता है, हम जब यह जानने की कोशिश की तो पता चला की किन्नर आपने आप को मंगल मुखी मानते है यानि वो तभी आते है जब कोई मांगलिक कार्य चल रहा होता है। इनके जीवन का सिर्फ एक सहारा होता है वह है आस-पास के समारोह में जाना और नाच करना।

बुध ग्रह को शांत करते हैं किन्नर

शास्‍त्रों में कहा गया है कि किन्नर बुध ग्रह का प्रतीक होते हैं और माना जाता है कि किन्‍नर बुध ग्रह को शांत करते हैं इसलिए अगर किसी जातक को बुधवार के दिन ये आर्शीवाद दे दे तो उसकी किस्मत खुल जाती है। साथ ही आपको ये भी बता दें कि किन्नरों को दान करने की प्रथा काफी समय से चलती आ रही है इसलिए जब भी घर में कोई भी शुभ काम होता है तो किन्नरों का आना उनका दुआएं देना और भी शुभ माना जाता है क्‍योंकि इनकी दुआओं से आपके जिंदगी की हर समस्‍या दूर हो जाती है।

कभी न करें किन्नर का अपमान

बता दें कि किन्नर की दुआ में जितनी ज्‍यादा शक्ति होती है उतनी ही किन्‍नर की बद्दुआ में भी इसलिए भूल से भी कभी इनका अपमान नहीं करना चाहिए। किन्नरों को दान करना शुभ माना जाता है लेकिन ध्‍यान रहे कि दान का सही तरीका न मालूम होने के कारण उसका फल आपको नहीं मिल पाता है। अगर आप किसी किन्नर को दान दे रहें, तो इन तरीकों को जरुर अपनाएं। इससे दान किया फल कई गुना बढ़ जाता है।

धन में कमी

आपको बता दें कि धन में कमी होने के कारण किसी किन्नर से एक रुपया लेकर अपने पर्स में रख लेते हैं या फिर उस सिक्के को किसी कपड़े में बांधकर अपनी तिजोरी में रख लेते हैं तो आपको कभी भी धन की कमी हीं होगी। किसी किन्नर से शुभ शुक्रवार के दिन दुआ लें। इससे उसकी दुआ की शक्ति कई गुना बढ़ जाएंगी।

सुपारी और सिक्का

यदि आपका बुरा समय चल रहा है तो किन्नर को पूजा की सुपारी सिक्के के ऊपर रखकर दान करें। ऐसा करने से किन्नर की दुआ का असर कई गुना बढ़ जाता है।