बेटे का पीछा करते करते मंदिर पहुंच गया पिता, फिर वहन दिखा दिल दहला देने वाला सीन

- in अपराध

हत्या की वारदाते दिन ब दिन बढ़ती जा रही हैं| कभी यह हत्याएँ आपसी रंजिस की वजह से तो कभी प्रेम-प्रसंग को लेकर हो रही हैं| ऐसे ही को शनिवार देर रात एक युवक की थाने से महज 50 कदम की दूरी पर गोली मार कर हत्या कर दी गई। सूचना मिलने पर जब पुलिस वहाँ पहुंची तो युवक घायल की अवस्था में मिला| घायल युवक को पुलिस ने हैलेट हॉस्पिटल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने अनुसार मृतक का अपने ही क्षेत्र की एक लड़की से डेढ़ साल से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। पुलिस ने इसे ऑनर किलिंग का केस माना है।

बेटे का पीछा करते करते मंदिर पहुंच गया पिता, फिर वहन दिखा दिल दहला देने वाला सीनबताया जा रहा हैं की इन दोनों को उनके मामा ने मिलने पर रोक लगा दी थी जिसकी वजह से दोनों घर से भाग गए थे| लड़की वालो के विरोध के कारण ही दोनों ने भाग कर शादी की और शादी के दस दिन बाद वह घर वापस लौट कर आये थे| जिसके बाद यह सब हुआ| फ़िलहाल पुलिस इस पूरी घटना की जाँच कर रही हैं| बताया जा रहा है की युवक फीलखाना थाना क्षेत्र का निवासी था| यह युवक हरी प्रसाद का बेटा था जिसका अपनी पड़ोसी लड़की अंजलि से बीते डेढ़ साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवक का नारु था|

यहाँ तक दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे, लकिन अंजलि के मामा आशीष सोनकर इसका विरोध कर रहे थे। जिसकी वजह से दोनों भागकर शादी की थी| इसके अलावा लड़की के मामा सोनकर ने नारू को अंजलि से दूर रहने और जान से मारने की भी धमकी की दी थी। मृतक के भाई कृष्णा ने बताया की ‘अंजलि के मामा ने उसके घर से बाहर निकलने पर रोक लगा दी थी। इससे अंजलि ने दुखी होकर सुसाइड करने की बात तक कह दी थी। इस बात से नारू परेशान हो गया और उससे बात कर साथ लेकर भाग गया। दस दिन बाद मेरा भाई वापस लौटा था, लेकिन शनिवार देर रात किसी ने उसकी गोली मार कर हत्या कर दी|’

पता चला हैं की नारु को कोई कॉल आया था जिसके बाद वह बाहर गया था| नारू के पिता हरी प्रशाद ने अपने बेटे की मौत अपनी आँखों के सामने होते देखा| हरी प्रशाद ने बताया की “शनिवार रात मेरे बेटे के पास एक फोन आया था, जिसके बाद वो घर से बाहर चला गया। नारू मंदिर की तरफ जा रहा था। मैंने भी उसका पीछा किया।

जैसे ही वह मंदिर के पास पंहुचा तो आशीष सोनकर और कल्लू अड्डे वाले ने उसे गोली मार कर उसकी हत्या कर दी। जब मैं यह सब देखकर तेजी से मौके पर पंहुचा तो वो लोग भाग गए। मैं बेटे को लेकर हॉस्पिटल गया, लेकिन वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।” इसके बाद पुलिस ने बताया की नारू मर्डर केस की जांच चल रही है।

फिलहाल पुलिस ने डेडबॉडी कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। अब पोस्टमॉर्टम के रिपोर्ट आने के बाद ही नारु का दाह-संस्कार किया जाएगा| नारु की हत्या से पूरा परिवार शोकाकुल हैं|