बेरोजगारी की मार : 62 पदों के लिए 93,500 अभ्यर्थियों का आवेदन

पांचवीं पास के लिए निकली वैकेंसी, एमटेक और एमएससी पास ने भी किया आवेदन


लखनऊ : उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी का आलम क्या है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि रेडियो मुख्यालय में संदेशवाहक (चतुर्थ श्रेणी) के 62 पदों के लिए कुल 93,500 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। प्राप्त हुए आवेदन में से 80 हजार अभ्यर्थी स्‍नातक हैं, इनमें से कई एमटेक और एमएससी उत्तीर्ण होने के साथ ही एमबीए जैसे प्रोफेशनल कोर्स भी कर चुके हैं, जबकि संदेशवाहक के लिए न्यूनतम योग्यता 5वीं पास है। गौरतलब है कि रेडियो मुख्यालय में संदेशवाहक पद के लिए 23 जुलाई को विज्ञापन निकाला गया था। आवेदन करने की अंतिम तिथि 16 अगस्त थी। इस पद के लिए शैक्षिक अहर्ता पांचवीं पास और साइकिल चलाने की शर्त राखी गई थी, लेकिन जो आवेदन प्राप्त हुए हैं, उनमें 90 फ़ीसदी स्नातक हैं और अधिकतर लोगों ने हाईस्कूल का प्रमाण पत्र लगाया है।

डीजी टेलिकॉम प्रमोद कुमार तिवारी ने कहा कि सुखद है कि संदेशवाहक पद के लिए उच्च योग्‍यता वालों ने दिलचस्पी दिखाई है, लेकिन सबसे बड़ी चुनौती पारदर्शी तरीके से परीक्षा को संपन्न कराने की है। साथ ही 93,500 अभ्यर्थियों में से 62 का चयन भी मुश्किल है, क्योंकि बाकी के लोग निराश होंगे। उन्होंने कहा कि इतने अभ्यर्थियों के आवेदन से परीक्षा का खर्च 3 करोड़ आएगा, जिसके लिए शासन को लिखा गया है। परीक्षा कराने के लिए प्रति अभ्यर्थी 300 रुपए के हिसाब से तीन करोड़ की मांग की गई है, उन्होंने कहा कि अगर शासन पैसे देने में असमर्थ होता है तो अभ्यर्थियों से पैसे लेने पर विचार किया जा सकता है। दरअसल चतुर्थ श्रेणी पद के लिए आवेदन पर कोई शुल्क नहीं लिया जाता, लेकिन इतनी ज्यादा संख्या में आवेदन प्राप्त होने पर समस्या आ गई है।