बैंक का चौकीदार ही निकला चोर, उड़ाए 11 लाख के गहने

चौकीदार चोर है, यह जुमला कम से कम चंडीगढ़ के मनीमाजरा स्थित एक बैंक के गार्ड पर तो सही बैठता है, जिसने बैंक के लॉकर में रखे एक ग्राहक के 11 लाख रुपये के गहनों पर ही हाथ साफ कर दिया. इस मामले में पहले पुलिस भी चक्कर खा गई थी, लेकिन सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर चोर का राज खुल गया.

मामला मार्च 7, 2019 का है. जब पंचकूला के सेक्टर 6 में रहने वाली देविका महाजन चंडीगढ़ के मनीमाजरा स्थित बैंक ऑफ कॉमर्स के लॉकर मैं गहने रखने गई. लेकिन वह गलती से गहने लॉकर में रखना भूल गई. 13 मार्च को जब वह दोबारा बैंक गई और अपना लॉकर खोला तो देखा कि गहने लॉकर में नहीं थे.

इन गहनों में 25 तोले सोना और एक डायमंड का कड़ा शामिल था. जिनकी कीमत लगभग 11 लाख रुपये है. जब गहनों को लेकर बैंक कर्मियों ने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया तो महिला ने मजबूरन मनीमाजरा पुलिस थाने में चोरी का मामला दर्ज करवाया.पुलिस ने छानबीन शुरू की. जिस रोज महिला बैंक में अपने गहनों की गठरी भूली थी. उस दिन की सीसीटीवी फुटेज चेक की गई तो पाया गया कि लॉकर वाले स्ट्रांग रूम में कई लोग आए, जिनमें बैंक का गार्ड अशोक कुमार भी शामिल था.

मनीमाजरा पुलिस ने एक-एक करके स्ट्रांग रूम में प्रवेश करने वाले सभी बैंक कर्मियों से पूछताछ की. लेकिन शक की सुई गार्ड अशोक कुमार की तरफ जा रही थी. पुलिस ने जब अशोक कुमार से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया और पुलिस को बताया कि गहनों की गठरी देखकर उसका ईमान डोल गया था.

गार्ड अशोक ने पुलिस को बताया कि उसने गहने बैंक से चुरा कर अपने घर में वाशिंग मशीन के भीतर छिपा दिए थे. पुलिस के मुताबिक आरोपी सिक्योरिटी गार्ड गहनों को खुदबुर्द करने के लिए एक ग्राहक की तलाश में था. पुलिस ने बैंक के सिक्योरिटी गार्ड को चोरी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. अब मनीमाजरा पुलिस ये भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि कहीं उसका संबंध किसी चोर गिरोह से तो नहीं है.