बड़ी खबर: केंद्रीय गृहमंत्री के होमटाउन में बदमाशों ने दारोगा को गोलियों से भूना

उत्तर प्रदेश में पुलिस ताबड़तोड़ एनकाउंटर कर रिकार्ड बनाने में लगी है और CM योगी आदित्यनाथ प्रदेश से बदमाशों के सफाए का दावा करते फिर रहे हैं. लेकिन इस एनकाउंटर अभियान का रत्ती भर भी खौफ बदमाशों पर दिखाई नहीं दे रहा. यहां तक कि योगीराज में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के होमटाउन में पुलिस ही उल्टे बदमाशों से खौफजदा है.

राजनाथ सिंह के होमटाउन और संसदीय क्षेत्र चंदौली में बीती रात बदमाशों ने एक दारोगा को गोली मार दी. बताया जा रहा है कि गोली लगने से घायल चौकी इंचार्ज उस समय गश्त पर निकला हुआ था. गंभीर रूप से घायल SI संतोष यादव को इलाज के लिए वाराणसी के बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है.

घायल दारोगा चंदौली के अलीनगर थाना के लौदा पुलिस चौकी पर तैनात हैं. उधर चौकी इंचार्ज पर हमला कर भाग रहे तीन बदमाशों में से दो को ग्रामीणों की मदद से​ पुलिस ​ने पकड़ लिया, ​जबकि तीसरा बदमाश फरार हो गया.

दरअसल लौदा पुलिस चौकी के इंचार्ज संतोष यादव देर रात मोटर साइकिल से गश्त पर निकले थे. उनके साथ दूसरी मोटर साइकिल पर दो सिपाही भी थे. गश्त करते हुए वे बसनी गांव की तरफ जा रहे थे. तभी चौकी इंचार्ज की नजर ​बरहुली गांव के पास एक पुलिया पर बैठे​ तीन युवकों पर पड़ी.

तीनों युवकों के पास ही एक बाइक भी खड़ी थी. चौकी इंचार्ज संतोष यादव ​पुलिया के पास रुक गए​ और युवकों से पूछताछ करते हुए गाड़ी के कागजात मांगे. युवक ने कागजात निकालने के बहाने बाइक की डिग्गी खोली और पलटकर SI संतोष यादव पर फायर झोंक दिया.

गोली चौकी इंचार्ज के सीने में लगी औऱ वह वहीं गिर पड़े. इसके बाद बाइक सवार बदमाश गांव की तरफ भाग निकले. चौकी इंचार्ज के साथ चल रहे सिपाहियों ने​ मामले की जानकारी आला अधिकारियों को दी.

​इसके बाद ​घायल दरोगा को वाराणसी इलाज के लिए भेजा गया. उधर फायरिंग की आवाज सुन ग्रामीणों ने भाग रहे तीन बदमाशों में से दो को घेरकर दबोच लिया . लेकिन तीसरा बदमाश भागने में कामयाब हो गया. पुलिस जब गांव में पहुंची तो ग्रामीणों ने बदमाशों को पुलिस के हवाले कर दिया.