भारतीय डॉक्टर की गजब खोज, अब सिर्फ 50 रुपए में होगा मुंह के कैंसर का इलाज

- in अजब-गजब

आज कैंसर से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है, इस बीमारी का अगर समय से इलाज नहीं कराया गया तो आपकी मौत तक हो जाती है। आजकल कैंसर के कई मामले सामने आ रहे हैं लोगों को कई प्रकार के कैंसर होते हैं गले के कैंसर, पेट में कैंसर, सर्वाइकल कैंसर
कैंसर का इलाज काफी महंगा है और आम आदमी यह खर्ज नहीं उठा सकता है, लेकिन अगर आपको या आपके किसी जानने वाले को गले यान मुंह का कैंसर है तो आप मात्र 50 रुपए खर्च कर एक यंत्र से आप ठीक तरह से बोल सकते हैं।

दरअसल बेंगलुरु स्थित डॉ. विशाल राव ने एक ऐसे चिकित्सा यंत्र की खोज की है जिसस गले के कैंसर से पीड़ित लोग सर्जरी के बाद भी ठीक तरह से बोल सकते है और इस यंत्र की कीमत सिर्फ 50 रुपए हैं। गले के कैंसर से पीड़ित, कोलकता का एक मरीज, पिछले 2 महीने से कुछ खा नहीं पा रहा था।

यह श़ख्स काफी निराश था और बोल नहीं पा रहा था और उसे नाक में लगे एक पाइप से खाना पड़ रहा था। गरीब होने की वजह से वो अच्छी मेडीकल इलाज भी नहीं ले पा रहा था। उसके डॉक्टर ने उसे बंगलुरु के एक सर्जन के बारे में बताया और वह शख़्स डॉक्टर से मिला और ट्रीटमेंट शुरू की। सिर्फ 5 मिनट के ट्रीटमेंट के बाद वो बोलने लगा था और खाना भी खा रहा था।

डॉ. राव एक ओर्कोलोजिस्ट सर्जन हैं और बेंगलुरु में हेल्थ केयर सर्विस कैंसर सेंटर में सिर और गले की बीमारियों के सर्जन हैं और आमतौर पर मिलने वाले गले के कैंसर लोगों के लिए 15000 रुपए से 30000 तक होती है, लेकिन राव के प्रोस्थेसीज यंत्र की कीमत मात्र पचास रुपए है और यह उपकरण सिलिकॉन से बना है। दरअसल यह यंत्र बोलने में मदद करता है सर्जरी के दौरान विंड पाइप और फूड पाइप को अलग कर जगह बनाई जाती है और यह पाइप वहां बैठाया जाता है।