भारत के 6 ऐसे अजीब कानून, जो किसी को भी नहीं होंगे पता

- in अजब-गजब

अजब गजब: हमारा देश भारत बहुत बड़ा होने के कारण विचित्रताओं से भरा पड़ा है. इसमें कई जातियां, धर्म और संप्रदाय के लोग एक साथ रहते हैं. परंतु, इसके बावजूद भी इस देश के लोगों में जो अपने संविधान और कानून के लिए सम्मान है, वह बहुत ही कम देशों में है. तभी तो 125 करोड लोग एक साथ एक देश में आराम से रहते हैं.

हमारे संविधान में कुछ ऐसे भी अजीब कानून है, जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं. दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल में ऐसे ही कुछ कानूनों के बारे में बताएंगे, जिनके बारे में आपने कभी नहीं सुना होगा.

लड़ाई में चाकू का इस्तेमाल नहीं कर सकते

भारतीय संविधान के अनुसार भारत के सैनिकों लड़ाई में चाकू का इस्तेमाल नहीं कर सकते. परंतु नागालैंड में यह कानून अप्लाई नहीं होता. नागालैंड के सैनिक लड़ाई में चाकू इस्तेमाल कर सकते हैं.

खुदकुशी का कानून

भारत में खुदकुशी करना लीगल है पर, खुदकुशी की कोशिश करने पर सजा मिलती है. इंडियन पीनल कोड में सुसाइड एटेम्पट करने पर सजा का प्रावधान है. पर अगर वह मर जाये तो उसमें कानून कुछ नहीं कर सकता.

पोर्न साइट के लिए नहीं है कोई कानून

गवर्नमेंट इंटरनेट से एडल्ट कंटेंट बन करने के लिए कई स्टेप्स उठाती है. लेकिन इसके लिए कोई एक पालिसी इंडिया में मौजूद नहीं है, जिसने यह लिखा हुआ हो की कौन सी वेबसाइट नहीं दिखानी चाहिए.

बच्चों की संख्या का कानून

चीन की तरह भारत के केरल राज्य में भी फैमिली को भी सिर्फ 2 बच्चे पैदा करने की परमिशन है. इसके बाद उन्हें ₹10000 तक का जुर्माना देना पड़ता है.

पेय पदार्थ को लेकर अलग-अलग ऐज लिमिट

भारत में ड्रिंक करने की मिनिमम ऐज वैसे तो 18 साल है पर आपको बता दे की, कुछ स्टेट जैसे हिमाचल प्रदेश, यूपी, सिक्किम, पांडिचेरी और महाराष्ट्र में यह आयु सीमा 25 वर्ष है.

ट्रैफिक इंस्पेक्टर बनने के लिए जरूरी है सफेद दांत

इंडियन मोटर व्हीकल एक्ट 1974 के तहत अगर आप आंध्र प्रदेश में ट्रैफिक इंस्पेक्टर बनना चाहते हैं तो आपके दांतों का मोतियों की तरह सफेद होना जरूरी है. इसके बिना आपको यह जॉब नहीं मिल सकती.