भारत-पाकिस्तान के बीच बनेगा तीर्थ कॉरिडोर!

पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने सीमावर्ती इलाके में स्थि‍त सिख तीर्थस्थलाें का दौरा किया है. ऐसा माना जा रहा है कि भारत के डेरा बाबा नानक से पाकिस्तान के गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर तक एक कॉरिडोर खोलने की कोशिश के तहत यह दौरा हुआ है.

भारत-पाकिस्तान के बीच बनेगा तीर्थ कॉरिडोर! गौरतलब है कि पंजाब सरकार के मंत्री और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू अपनी पाकिस्तान यात्रा के दौरान जब वहां के सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा से मिले थे, तब बाजवा ने इस तरह के कॉरिडोर के खोले जाने का संकेत दिया था.

इस खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए सिद्धू ने कहा, ‘वे गुरुनानक जी की 550वीं जयंती पर करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर खोलने को तैयार हैं. पंजाब की जनता के लिए इससे बड़ी खुशी कुछ और नहीं हो सकती.’

इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल बाजवा से गले मिलने पर सिद्धू भारत में आलोचना के शिकार हुए थे. इसके बाद आजतक-इंडिया टुडे से बात करते हुए सिद्धू ने कहा था, ‘जनरल बाजवा ने बताया है कि पाक सरकार भारत के डेरा बाबा नानक से पाकिस्तान के गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर तक एक कॉरिडोर खोलने की कोशिश करेगी. इससे 550वें गुरु नानक प्रकाश उत्सव के दौरान तीर्थयात्रियों को आने-जाने में मदद मिलेगी.’

बिसारिया ने गत 29 अगस्त को ही यह दौरा किया है. इस दौरे पर उन्हें सिखों के पवित्र तीर्थ करतारपुर साहिब के बारे में जानकारी दी गई जो पाकिस्तान में नारवाल शहर से 13 किमी. और लाहौर से करीब 120 किमी. की दूरी पर है. भारतीय सीमा से यह सिर्फ पांच किमी की दूरी पर है. हालांकि पाकिस्तान सरकार या सेना ने अभी तक इस बात की पुष्ट‍ि नहीं की है कि इसके लिए सीमा खोली जाएगी या नहीं.