मक्का मस्जिद मामले में फैसला देने वाले जज भाजपा में शामिल होना चाहते हैं

हैदराबाद : चुनाव की सरगर्मियों को देखते हुए तेलंगाना में सभी पार्टियां लोकप्रिय चेहरों को जोड़ने में जुटी हुई हैं। इसी क्रम में मक्का मस्जिद विस्फोट मामले में फैसला सुनाए जाने के कुछ घंटे बाद इस्तीफा देने वाले पूर्व न्यायाधीश के. रविन्दर रेड्डी ने भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की इच्छा जताई है। उन्होंने भाजपा को ‘देशभक्त पार्टी’ करार दिया और कहा कि यह ऐसी पार्टी है जिसमें ‘परिवार का शासन’ नहीं है। हालांकि भाजपा ने अभी इस पर रुख साफ नहीं किया है।

गौरतलब है कि रेड्डी की आतंकवाद निरोधी अदालत ने इसी साल 16 अप्रैल को 400 साल पुरानी मक्का मस्जिद के परिसर में हुए विस्फोट मामले से हिंदुत्व के प्रचारक असीमानंद और चार अन्य को बरी किया था। रिमोट के जरिये हुए विस्फोट में नौ लोग मारे गए थे और 58 घायल हुए थे, घटना 18 मई, 2007 को हुई थी। ऑल इंडिया मजलिस-ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने रेड्डी के इस फैसले पर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा कि पूर्व जज को मक्का मस्जिद मामले में पसंदीदा फैसला देना का इनाम मिला रहा है। ओवैसी ने कहा, हां पता है, रिटायर्ड जज साहब आप किधर जा रहे हैं, सुप्रीम लीडर और असीमानंद एंड कंपनी द्वारा आपके लिए चुनाव प्रचार कर आपको इनाम दिया जाएगा। मुझे उम्मीद है कि आप अपनी जमानत (चुनाव में) भी नहीं बचा पाएंगे। वहीं तेलंगाना के भाजपा अध्यक्ष के लक्ष्मण ने इंडिया टुडे को बताया, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के हालिया हैदराबाद दौरे के दौरान रेड्डी ने उनसे मुलाकात की थी, लेकिन पार्टी अभी उनको लेकर कोई निर्णय नहीं लिया है कि उनकी सेवा लेनी या नहीं। उन्होंने यह भी बताया कि रेड्डी को अभी भाजपा की सदस्यता नहीं दी गई है और उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के दफ्तर की ओर से अगले संदेश का इंतजार करने को कहा गया है। बहरहाल रेड्डी ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा में शामिल होने के उनके कार्यक्रम को फिलहाल रोका गया है और कोई कारण नहीं बताया गया है। उन्होंने कहा, पूर्व केंद्रीय मंत्री और सिकंदराबाद के सांसद बंडारू दत्तात्रेय ने मेरा सम्मान किया और पार्टी में शामिल होने के लिए मुझे आमंत्रित किया। रेड्डी ने कहा, मैंने पार्टी में इसलिए शामिल होने की इच्छा जताई कि मेरा मानना है कि यह देशहित में सोचने वाली पार्टी है। उन्होंने कहा, राष्ट्रीय स्तर की यह एकमात्र देशभक्त पार्टी है और इसमें परिवार का शासन नहीं है। रेड्डी ने कहा कि हाल में जब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह नगर के दौरे पर थे तो उन्होंने उनसे मुलाकात की थी। रेड्डी ने कहा, मेरे साथ मेरे शुभचिंतक, पारिवारिक मित्र और वकील पार्टी में मेरे शामिल होने का कार्यक्रम देखने आए थे, लेकिन मुझे संदेश मिला कि कार्यक्रम रोक दिया गया है और कोई कारण नहीं बताया गया। पूर्व न्यायाधीश के पार्टी में शामिल होने के मुद्दे के बारे में दत्तात्रेय ने कहा कि यह महज ‘संवादहीनता’ है।

सभी बॉलीवुड तथा हॉलीवुड मूवीज को सबसे पहले फुल HD Quality में देखने के लिए यहाँ क्लिक करें