मछली खिलाने से बढ़ेगा बच्चों का ब्रैन पॉवर

- in स्वास्थ्य

नई दिल्ली. हर पेरेंट्स चाहते हैं कि बच्चा पढ़ाई में अच्छा हो, खेल-कूद में अव्वल हो. यह तभी हो पाएगा जब बच्चा शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहेगा. आगे बढ़ने के लिए बच्चे का दिमाग तेज होना जरूरी है. अगर दिमाग काम करेंगे तभी तो बच्चा अच्छे से अपनी पढ़ाई पर ध्यान दे पाएगा.मछली खिलाने से बढ़ेगा बच्चों का ब्रैन पॉवरमछली खिलाने से बढ़ेगा बच्चों का ब्रैन पॉवर

दिमाग तेज करने के लिए ऐसे आहार खाने की जरूरत है, जो ब्रैन पॉवर को बढ़ाते है. तो सप्ताह में एक बार मछली जरूर खिलाएं. शोध के निष्कर्षों से पता चला चला है कि मछली नहीं खाने वाले या कभी-कभी खाने वाले बच्चों की तुलना में सप्ताह में एक बार मछली खाने वाले बच्चे अच्छी नींद लेते हैं और उनका आईक्यू औसत की तुलना में चार अंक ज्यादा होता है.

जिन बच्चों के भोजन में मछली कभी-कभी शामिल होती है उनमें यह स्कोर 3.3 अंक ज्यादा होता है. इसके अतिरिक्त ज्यादा मछली का सेवन कुछ नींद संबंधी दिक्कतों से जुड़ा है, जिसके बारे में शोधकर्ताओं का कहना है कि इससे बेहतर नींद आती है. पहले के शोध बताते हैं कि यह ओमेगा-3एस से जुड़ा हुआ है.

ओमेगा-3एस कई तरह की मछलियों में पाया जाता है. इससे बुद्धिमत्ता में सुधार होता है साथ ही यह बेहतर नींद लाने में कारगर है. पेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय के प्रोफेसर एड्रियन राने ने कहा, “नींद की कमी असामाजिक व्यवहार से जुड़ी है.” उन्होंने कहा, “हमने पाया है कि यह ओमेगा-3 असामाजिक व्यवहार को घटाता है, इसके लिए मछली जिम्मेदार है.”