मध्यप्रदेश : किसानों की बेमियादी हड़ताल से प्रशासन की चिंता बढ़ी

- in मध्यप्रदेश

श्योपुर: श्योपुर जिले के विकास खंड विजयपुर की ईडर नदी पर लोढी बांध बनाए जाने की मांग को लेकर किसानों द्वारा शुरू किया गया अनिश्चितकालीन धरना रविवार को दूसरे दिन भी जारी रहा। किसानों का कहना है कि जब तक मांग पूरी नहीं हो जाती, तब तक धरना जारी रहेगा। जनपद पंचायत कार्यालय के समीप तंबू लगाकर धरने पर बैठे किसानों का कहना है कि इस वर्ष ना के बराबर बारिश हुई है। ऐसे में क्षेत्र में सूखे के हालात हैं। वर्तमान में सिंचाई का ही नहीं, बल्कि पेयजल का भी संकट है। यदि शासन-प्रशासन हमारी ईडर नदी पर बांध बनाने की मांग पूरी कर दे तो इससे 30 गांवों की असिंचित जमीन सिंचित हो सकेगी और पेयजल संकट भी खत्म हो जाएगा। लोढी बांध को लेकर हम किसान गत 20 नवंबर को सीएम के नाम प्रशासन को ज्ञापन भी दे चुके हैं। ज्ञापन में शासन-प्रशासन को पन्द्रह दिन का वक्त दिया गया था, लेकिन प्रशासन इस दौरान टस से मस नहीं हुआ है। यही वजह है कि हम किसानों को मजबूर आंदोलन का रूख अख्त्यिार करना पड़ा है।

इसी के तहत शनिवार से यह अनिश्चितकालीन धरना शुरू किया गया है। किसानों के अनुसार यह धरना तब तक जारी रहेगा,जब तक कि शासन-प्रशासन इस मामले में कोई निर्णय नहीं ले लेता। धरने के दौरान बडी तादात में किसान मौजूद थे। ईडर नदी पर बांध बनाने की मांग ग्राम गांवडी, गोबर, गंजनपुरा, गुन्नीपुरा, दाउदपुर, शिवलालपुरा, बोहरी का पुरा, किशोर का पुरा, कटारा का पुरा, गोहटा, हरिसिंह का पुरा, सरकडांडा, गांवडी का सहराना, शाला,अठैयापुरा, चुन्नीपुरा, बीलदा सहराना, काठोन, दरिगंवा, बंगा, भूरापुरा, पचनया, कुंडीपुरा, वीसा सहराना, बहेरी सहराना, बालेड,जोनसिल, टपरिया का पुरा आदि गांव के किसान कर रहे हैं।