मां दुर्गा की मूर्ति स्थापना को लेकर मचा बवाल, फायरिंग व पथराव, पीएसी के जवान तैनात

- in राष्ट्रीय

बहराइच: धर्म और जाती के नाम पर लोग वर्षों से लड़ते चले आ रहे हैं। लेकिन इनको कौन समझाए की यह सब गलत है। भाईचारे में जीना ही सबसे अच्छी बात है। लेकिन इनकी समझ में कंहाँ आना है। बहराइच जिले के रिसिया कस्बे में स्थित मोहल्ला गायत्री नगर में मूर्ति स्थापना को लेकर बुधवार देर रात दो समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए। पथराव के साथ फायरिंग हुई। जिसमें लगभग 20 लोग घायल हो गए। मौके पर पहुंचे पुलिस और पीएसी के जवानों ने किसी तरह सुबह तक हालात पर काबू पाया। इलाके में चार थाने की पुलिस व एक ट्रक पीएसी के जवान तैनात हैं। रात में हुए उपद्रव के मामले में 40 नामजद व 250 अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। डीएम व एसपी ने भी घटनास्थल का मुआयना किया। अब तक 15 उपद्रवी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। शेष की धरपकड़ के लिए छापेमारी चल रही है। रिसिया थाना अंतर्गत कस्बे के मोहल्ला गायत्री नगर में स्थित पूजित कुआं के निकट बुधवार रात 11:30 बजे के आसपास कुछ लोग मां दुर्गा की प्रतिमा लेकर स्थापना करने पहुंचे। जयकारों के बीच प्रतिमा स्थापना का कार्य चल रहा था। इसी दौरान सैकड़ों की संख्या में एक समुदाय विशेष के लोग मौके पर आ धमके। कहासुनी शुरू हो गई। इसी बीच भीड़ में शामिल कुछ उपद्रवियों ने कट्टे से फायरिंग शुरू कर दी। पत्थर भी फेंके। जिससे भगदड़ मच गई। जमकर पथराव हुआ। यह संघर्ष लगभग एक घंटे तक रुक-रुक कर चला। जिससे मोहल्ले के मार्गों पर ईंट और पत्थर बिछे नजर आ रहे हैं। संघर्ष की सूचना पाकर रिसिया पुलिस मौके पर पहुंची। लेकिन हालात बेकाबू देखकर उच्चाधिकारियों को सूचना दी। इस पर अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण रवींद्र कुमार, खैरीघाट, रानीपुर, कोतवाली देहात, रामगांव, नानपारा व दरगाह थाने की पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे। किसी तरह हालात को काबू में किया गया। रात में ही एक ट्रक पीएसी बुलायी गयी। इस मामले में 40 नामजद व 250 अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। सुबह डीएम माला श्रीवास्तव और पुलिस अधीक्षक सभाराज ने भी घटनास्थल का मुआयना किया। उपद्रवियों की धरपकड़ के निर्देश दिए गए हैं। अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अब तक 15 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। शेष नामजद उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।