मुंबई क्रिस्टल टावर में लगी आग, 16 झुलसे

मुंबई : दादर इलाके में स्थित एक आवासीय भवन में आज सुबह आग लगने की घटना में 4 लोगों की मौत हो, गयी जबकि 16 अन्य घायल हो गये। मृतकों की मौत की वजह दम घुटना बताई जा रही है। दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि हिन्दमाता सिनेमा के पास स्थित 17 मंजिला क्रिस्टल टावर की अलग-अलग मंजिलों से दर्जनों लोगों को सुरक्षित बचाया गया। अधिकारियों ने बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है| अब ‘कूलिंग ऑपरेशन’ चल रहा है| केईएम अस्पताल के डीन “डॉ. अविनाश एन सुपे” ने बताया, बिल्डिंग से निकाले गए 20 लोगों को केईएम अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

जिनमें से 4 की मौत हो गई है। मृतकों में एक बुजुर्ग महिला और 3 पुरुष शामिल हैं। साथ ही 16 लोगों की हालत अभी स्थिर बनी हुई है। इन 16 लोगों में 10 पुरुष और 6 महिलाएं हैं। अस्पताल में भर्ती अन्य लोगों की हालत अभी स्थिर है। इस बात की जानकारी अस्पताल के डीन ने दी है। बताया जा रहा है, कि आग सुबह 8:30 बजे लगी थी। फायर ब्रिगेडे के अधिकारी बिल्डिंग के अंदर भी गए ताकि अगर अंगर कोई फंसा हो तो उसे बचाया जा सके। दमकल विभाग की गाड़िया आग बुझाने में जुटी थीं। मौके पर दमकल की 20 गाड़ियां पहुंची थीं। बचाए गए लोगों को सीधे अस्पताल ले जाया जा रहा था। दमकल विभाग नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी के अनुसार, धुंआ भवन की सीढ़ियों पर फैल गया। एहतियात के तौर पर लिफ्ट का प्रयोग नहीं किया गया। भवन के भीतर फंसे लोगों को निकालने के लिए दमकल विभाग ने विशेष सीढ़ियों का प्रयोग किया। जून के महीने में आरटीआई से मिली जानकारी के अनुसार बीते 6 साल में आग की “29,140 ” घटनाएं रिकॉर्ड की गई हैं। इनमें मरने वालों की संख्या का आंकड़ा करीब 300 बताया गया है। महाराष्ट्र अग्नि प्रतिबंधक व जीवरक्षक उपाय योजना अधिनियम 2006 के तहत, नियमों का पालन कराने की जिम्मेदारी मुंबई फायर ब्रिगेड की है। लेकिन बीते 6 सालों में ये घटनाये लगातार बढ़ती जा रही हैं। इससे साफ पता चलता है, कि नियमों का पालन ठीक से नहीं हो रहा है।