मुख्यमंत्री योगी की मौजूदगी में शुरु हुई माननीयों की ‘क्लास’

- in BREAKING NEWS, TOP NEWS, फीचर्ड, लखनऊ

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री आज सुबह 9 बजे आईआईएम लखनऊ में क्लास करने पहुंचे हैं. योगी सरकार के कई मंत्री और खुद सीएम योगी मैनेजमेंट का गुरु ज्ञान लेने पहुंचे. लीडरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम का यह आखिरी चरण है. आज के कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक ट्रिलियन डॉलर बनाने की योजना को अंतिम रूप दिया जाएगा.

गौरतलब है कि इससे पहले भी लखनऊ आईआईएम में मंत्रियों के लिए दो सेशन का आयोजन किया गया है. इस कार्यक्रम का मकसद मंत्रियों और अधिकारियों को यह सिखाना है कि कैसे सरकारी नीति का उचित निर्माण और बेहतर क्रियान्वयन हो. नीतियों का अगर बेहतर क्रियान्वयन होगा तो ज्यादा से ज्यादा लोगों को योजनाओं का लाभ मिलेगा. पिछली क्लास में सीएम योगी ने कहा था कि इस प्रोग्राम का उद्देश्य प्रदेश के समग्र विकास और सुशासन का रोडमैप तैयार करना है और एक टीम के रूप में उसे जमीन पर उतारना है.

नए मंत्रियों से बेहतर परिणाम और पुरानों को अपडेट करने के लिए योगी सरकार के कहने पर आईआईएम लखनऊ ने तीन दिन का विशेष ट्रेनिंग मॉड्यूल ‘मंथन’ तैयार किया है. आईआईएम की इस क्लास में प्रोफेसर ने योगी सरकार के मंत्रियों को साथ काम करने, बेहतर परिणाम लाने और अच्छा लीडर बनने के नुस्खे बताएंगे. वहीं, मंत्रियों को अलग-अलग समूहों में बांटकर सिखाया गया कि वह कैसे साथ चलकर बदलाव की शुरुआत कर सकते हैं. ट्रेनिंग प्रोग्राम को इस तरह से तैयार किया गया है कि मंत्रियों को विषय को व्यवहारिक ढंग से समझाया जा सके.

ट्रेनिंग प्रोग्राम में टॉस्क, सवाल-जवाब और समूह चर्चा के भी सत्र रखे गए हैं. इसके लिए मंत्रियों को अलग-अलग समूह में बांटा गया है, जिससे टीम-वर्क के रूप में काम करने की उनकी दक्षता आंकी जा सके. सुबह 9.40 से 10.45 का पहला आईआईएम की निदेशक प्रोफेसर अर्चना शुक्ल का होगा, जिसमें प्रोफेसर पुष्पेंद्र प्रियदर्शी और प्रोफेसर निशांत उप्पल भी उनके साथ रहेंगे.