मुख्यमंत्री योगी बोले, मैं घर में हनुमान चालीसा रखने और बाहर टोपी लगाने वालों में नहीं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्हें उनकी आस्था के अनुसार पूजा पद्धति की स्वतंत्रता है। वे घर में हनुमान चालीसा रखकर बाहर टोपी लगाने वालों में नहीं हैं। सरकार सबको उसकी आस्था के अनुसरण के लिए पूरी सुरक्षा मुहैया कराएगी। योगी ने मंगलवार को एक कार्यक्रम में यह बात कही।मुख्यमंत्री योगी बोले, मैं घर में हनुमान चालीसा रखने और बाहर टोपी लगाने वालों में नहीं

 

सीएम के रूप में एक साल पूरा करने जा रहे योगी ने कहा कि मैं हिंदू हूं, लेकिन हर धर्म को मानने वालों का मुख्यमंत्री भी हूं। अगर मुझे मस्जिद से आमंत्रण मिलता है तो वहां भी जाऊंगा। बतौर सीएम कहीं भी जाने में कोई दिक्कत नहीं है।

इसके पहले मुख्यमंत्री योगी ने सात विधानसभा में भी कहा था कि मैं हिंदू हूं इसलिए ईद नहीं मनाता। इसका मुझे गर्व है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल ही में एक पत्रकार ने उनसे पूछा कि दिवाली अयोध्या व होली मथुरा में मनाई तो ईद कहां मनाएंगे? मैने जवाब दिया कि मै हिंदू हूं, ईद नहीं मनाता।

हमें अपनी संस्कृति पर गर्व है। लेकिन अगर कोई शांतिपूर्ण ढंग से ईद मनाना चाहता है तो सरकार पूरा सहयोग करेगी। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने तो 2007 से थानों व पुलिस लाइन में जन्माष्टमी मनाने पर रोक लगा दी। हमने इसे फिर शुरू कराया। घर में रहें तो जनेऊ पहने और बाहर जाएं तो टोपी लगाएं, ये नहीं हो सकता।

‘सरकार शीघ्र ही पांच लाख रिक्त पद भरने जा रही है’

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, सरकार शीघ्र ही पांच लाख रिक्त पद भरने जा रही है। 19 मार्च को प्रदेश सरकार का एक साल पूरा हो रहा है। किसी भी राज्य में परिवर्तन, विकास और प्रगति के लिए एक वर्ष की अवधि कम है। सीमित संसाधनों के बीच उप्र जैसे बड़े राज्य के लिए यह एक चुनौती भी है। प्रदेश सरकार सबका साथ सबका विकास के संकल्प के साथ काम कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों में जातिवाद, वंशवाद और भ्रष्टाचार के साथ-साथ बदहाल कानून व्यवस्था ने प्रदेश का काफी नुकसान किया। पिछले एक साल में जो बदलाव हुआ उसकी झलक इन्वेस्टर्स समिट में दिखी है। एंटी रोमियो स्क्वायड का असर पूरे प्रदेश में हुआ है। महिलाएं व बच्चियां अब सुरक्षित महसूस कर रही हैं।

योगी ने कहा, हमने कानून-व्यवस्था चुस्त करने के साथ उद्योग जगत और निवेशकों की सुविधा के लिए आकर्षक नीतियां लागू करते हुए प्रदेश में निवेश फ्रेंडली माहौल बनाया। सरकार अवस्थापना सुविधाओं के विकास को प्राथमिकता दे रही है। कानपुर, मेरठ और आगरा में मेट्रो रेल सेवा की डीपीआर बन चुकी है। वाराणसी, इलाहाबाद, गोरखपुर और झांसी की मेट्रो परियोजनाओं को केंद्र सरकार की नई नीति के अनुरूप संशोधित किया जा रहा है। हम पूर्वांचल एक्सप्रेस- वे और बुंदेलखंड एक्सप्रेस- वे का निर्माण कराने जा रहे हैं।

किसानों को उनके खातों में दी रकम

 योगी ने दावा किया कि ऐसा पहली बार हुआ है जब गेहूं के समर्थन मूल्य से अधिक प्रति क्विंटल 10 रुपये अतिरिक्त दिया गया और रिकॉर्ड 37 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई। खरीफ सत्र में 43 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा गया। किसानों के खाते में उनकी उपज का मूल्य सीधे भेजा जा रहा है। पहली बार प्रदेश में आलू का समर्थन मूल्य घोषित हुआ। बाजार हस्तक्षेप योजना के तहत 1 मार्च से 31 मार्च तक 2 लाख मीट्रिक टन आलू क्रय के लिए 549 रुपये प्रति क्विंटल का समर्थन मूल्य घोषित किया गया है।
बिजली और सड़क के क्षेत्र में हुआ सुधार
बिजली और सड़क का जिक्र करते हुए कहा, पहले चरण में गड्ढा मुक्त सड़कें और उनके नवीनीकरण के बाद अब प्रदेश में 2 लेन और 4 लेन सड़कों का प्राथमिकता पर निर्माण कराया जा रहा है। बिजली के क्षेत्र में सभी जिलों में समान व्यवस्था की गई है। अब सभी जिला मुख्यालयों को 24 घंटे, तहसील मुख्यालयों और बुंदेलखंड को 20 घंटे और ग्रामीण क्षेत्रों को 18 घंटे बिजली दी जा रही है। शहरों में खराब ट्रांसफार्मर को 24 घंटे व गांवों में 48 घंटे में बदलने की व्यवस्था लागू की गई है। अब तक प्रदेश के 50 हजार से अधिक मजरे विद्युतीकृत हो चुके हैं। 25 लाख से अधिक गरीब परिवारों को नि:शुल्क बिजली कनेक्शन दिया गया है।

अयोध्या व ब्रजधाम में बढ़ेगा पर्यटन

मुख्यमंत्री ने कहा, तीर्थाटन और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार ने अनेक कदम उठाए हैं। दीपावली पर अयोध्या में दीपोत्सव मनाया गया। इसी तरह ब्रजधाम के बरसाना में रंगोत्सव आयोजित हुआ। पर्यटन को प्रोत्साहन देने के लिए एयर कनेक्टिविटी योजना के तहत प्रदेश के सभी महानगरों को जोड़ा जा रहा है।
रोजगार उपलब्ध कराने को कर रहे काम
मुख्यमंत्री ने पिछली सपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, उस समय भर्तियों में भ्रष्टाचार का बोलबाला था लेकिन अब पारदर्शी तरीके से नियुक्तियां शुरू की गई हैं। ग्रुप 3 और ग्रुप 4 की नौकरियों में इंटरव्यू समाप्त कर दिया है। पुलिस सब इंस्पेक्टर की पहली भर्ती हो चुकी है और कांस्टेबल की भर्ती प्रारम्भ है। लगभग 68 हजार शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।