मुख़्तार अंसारी को आया जेल में हार्ट अटैक, किया गया लखनऊ में भर्ती

लखनऊ। विधायक मुख्तार अंसारी को पीजीआइ के आइसीयू में भर्ती किया गया है। पीजीआइ में शाम सात बजे दो एंबुलेंस पहुंचीं। इस दौरान आगे-पीछे सुरक्षा वाहन थे। एक एंबुलेंस में विधायक मुख्तार अंसारी थे, दूसरी में पत्नी अफशा अंसारी थीं। पहले से अलर्ट पीजीआइ स्टाफ उन्हें स्टे्रचर से कार्डियोलॉजी वार्ड ले गया, जहां से उन्हें आइसीयू में शिफ्ट कर दिया गया। बेड नंबर 13 पर अफशा व बेड नंबर 14 पर भर्ती मुख्तार का इलाज विभागाध्यक्ष प्रो. पीके गोयल के देखरेख में शुरू किया गया है।मुख़्तार अंसारी को आया जेल में हार्ट अटैक, किया गया लखनऊ में भर्ती

उनकी एंजियोग्राफी संभावित है। मुख्तार के आने की सूचना पर पीजीआइ में समर्थकों का हुजूम जुट गया। पहले से सूचना पर भीड़ को नियंत्रण करने के लिए पीजीआइ प्रशासन ने भी गार्डों की तैनाती कर दी। मुख्तार के पहुंचते ही समर्थक  अंदर पहुंचने की कोशिश करने लगे, जिन्हें सुरक्षाकर्मियों ने रोक दिया। अस्पताल का मुख्य प्रवेश द्वार बंद कर दिया गया। इस पर समर्थकों ने हंगामा करते हुए गार्डों से धक्कामुक्की की।

पीजीआइ में भर्ती मुख्तार अंसारी को देर रात करीब 11 बजे देखने पहुंचे उसके बड़े भाई पूर्व सांसद अफजाल अंसारी को पुलिस ने रोका तो बवाल खड़ा हो गया। मुख्तार समर्थकों की पुलिस से जमकर नोंकझोंक हुई। हंगामा बढ़ता देखकर पीजीआइ समेत आसपास के कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। थोड़ी ही देर में अस्पताल परिसर छावनी में तब्दील हो गया।

एएसपी उत्तरी अनुराग वत्स ने बताया कि तलाशी के दौरान मुख्तार अंसारी के एक समर्थक ने चाकू फर्श पर फेंक दिया। इसके बाद बवाल कर रहे 15 समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। सभी को पीजीआइ थाने ले जाकर उनसे पूछताछ की जा रही है। हिरासत में लिए गए समर्थकों का पुलिस अपराधिक इतिहास भी चेक कर रही है। एएसपी उत्तरी ने बताया कि सभी की चेकिंग पूरी करने के बाद ही उन्हें थाने से छोड़ा जाएगा।

सांस लेने में हो रही तकलीफ

प्रशासनिक अधिकारी भरत सिंह ने सुरक्षाकर्मियों से मुख्य प्रवेश द्वार से आइसीयू तक नजर बनाए रखने का निर्देश दिया। इलाज में जुटे एक डॉक्टर का कहना है कि प्रथम दृष्टया मुख्तार और उनकी पत्नी को सांस लेने में तकलीफ हो रही है। साथ ही सीने में दर्द की भी शिकायत है। वहीं प्रो. पीके गोयल ने कहा कि अभी जांच जारी है, ऐसे में कुछ स्पष्ट बताया नहीं जा सकता है।

सुरक्षा घेरे में आइसीयू

मुख्तार व उनकी पत्नी की भर्ती के चलते आइसीयू को सुरक्षा घेरे में ले लिया गया। बाहर भारी सुरक्षा बल रात तक तैनात रहा। इस बीच किसी को अंदर नहीं जाने दिया गया। दरअसल, आज शाम चार बजे लखनऊ एसजीपीजीआइ के गेट सहित आसपास की तमाम जगहों पर लोगों की भीड़ एकत्र होकर मुख्तार का हाल जानने की कोशिश में रही। मुख्तार को बांदा जेल में पसीने के साथ सीने में दर्द की परेशानी होने के कारण यहां लाए जाने की सूचना फैल चुकी थी। 

मुख्तार की सूचना पर एसजीपीजीआइ  प्रशासन भी हरकत में अा गया। यह जानकारी संस्थान प्रशासन को मिल गयी थी। समर्थक और परिवार वालों की भीड़ लगातार बढ़ती जा रही थी। इसी बीच प्रशासनिक अधिकारी भरत सिंह ने सुरक्षा के मद्दे नजर मुख्य प्रवेश द्वार से एमअाइसीसू का जायजा लिया। जैसे-जैसे मुख्तार के अाने का समय नजदीक अाया।  प्रवेश द्वार पर हुजूम लग गया और प्रवेश द्वार बंद करना पड़ा। एपीअारओ अजय तिवारी पहले से स्ट्रेचर आक्सीजन के साथ मुस्तैद थे।

स्थानीय पुलिस  पहले से पहुंच कर भीड़ को संभालने में लगे थे। शाम सात बजे के करीब दो एंबुलेंस में मुख्तार और उनकी पत्नी पहुंची । इनके साथ अायी गारद ने अपने घेरे में लेकर तुंरत इन्हे एमअाईसीयू में शिफ्ट किया गया। पांच मिनट के लिए सामान्य तीमारदारों को रोका गया लेकिन जैसे ही वह एमआाईसीयू में शिफ्ट हो गए सभी परिजनों को भेजा गया। इस तरह की भीड किसी मरीज के लिए कम ही देखने को मिलती है। 

भीड़  के चलते बंद कर दिया मुख्य द्वार

मुख्तार अंसारी को स्ट्रेचर से अस्पताल के अंदर लेते ही अस्पताल का मुख्य प्रवेश द्वार बंद कर दिया क्योंकि समर्थक पीछे -पीछे अाने लगे । तमाम समर्थक अस्पताल के अंदर अाने के लिए परेशान रहे। कई समर्थक अस्पताल के अंदर अाने के लिए धक्का – मुक्की भी करने लगे  लेकिन परिजनों से सबको समझा कर नियंत्रित किया।  अस्पताल के अंदर केवल इनके परिजन और परिवार के लोग ही गए जिन्हे एमअाईसीयू के बाहर यह कर रोका गया कि यहां गंभीर मरीज है। अापके मरीज के इलाज में भी परेशानी होगी। 

कार्डियोलाजी के एमआइसीयू में भर्ती

विधायक मुख्तार अंसारी और उनकी पत्नी अफशां अंसारी  शाम सात बजे संजय गांधी पीजीआइ पहुंचे यहां पर उन्हें कार्डियोलाजी वार्ड के एमअाईसीयू वार्ड में प्रो. पीके गोयल के देख-रेख में  बेड नंबर 13 पर उनकी पत्नी और बेड नंबर 14 पर मुख्तार को भर्ती किया गया। इलाज कर रहे डाक्टरों का कहना है कि फिलहाल इन्हें सांस लेने में परेशानी के साथ दर्द की शिकायत बतायी जिसके लिए कई तरह की जांच की जा रही है देखा जा रहा है कि हार्ट में कोई परेशानी तो नहीं है फिलहाल अभी हम लोग किसी परिणाम पर नहीं पहुचे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक बांदा जेल में बंद विधायक मुख्तार अंसारी से मिलने पत्नी अफशां अंसारी पहुंची तो वह जेल में पत्नी के साथ चाय पी रहे थे. चाय पीने के कुछ ही देर बाद वे बेहोश होकर गिर पड़े. उनकी पत्नी भी बेसुध हो गईं। मुख्तार को पसीने के साथ सीने में दर्द की परेशानी होने लगी है। दर्द देखकर जेल प्रशासन ने 12.40 पर बांदा के जिला अस्पताल में भेजा गया जहां पर इलाज के बाद उनकी हालत में सुधार हुअा जिसके बाद लगभग हायर सेंटर के लिए भेजा गया लेकिन परिवार वालों ने पीजीआई लाने का फैसला लिया।