यदि आपका नाम “A” और “S” से शुरू होता है तो आप हो दुनिया के ऐसे इंसान, सुनकर यकीन नहीं करोगे आप

धर्म: जब आपसे पूछा जाता है कि आप कौन हो तो आप उसे अपना नाम बताते हो. इससे ये पता चलता है कि नाम आपकी पहचान है. नाम और पहचान का संबंध सिर्फ व्यक्ति तक ही नहीं है बाकि हर जगह, हर जीव जंतु, पक्षी, जल जीव, सजीव हो या निर्जीव सभी का अपना एक नाम है और उनके नाम के आधार पर ही उनकी पहचान है.

जब भी किसी के नाम का उच्चारण किया जाता है या फिर संबोधित किया जाता है तो सब इस बात को तुरंत जान जाते है कि किसके बारे में बात हो रही है.ये तो थी नाम की और नाम से पहचान की बात लेकिन क्या आप जानते हो कि आपका नाम आपके चरित्र का भी बखान करता है.

अगर नहीं जानते हो आज हम आपको बताते है कि आपके नाम का पहला अक्षर किस तरह से आपके चरित्र और आपके व्यवहार का परिचय दे सकता है. इसका सीधा संबंध आपकी जन्मकुंडली से है, इसीलिए आपने देखा भी होगा कि बच्चे के जन्म के बाद उसका नामकरण किया जाता है. तो आओ जानते है आपके नाम के आधार पर आपका चरित्र कैसा हैं..

A से शुरू होने वाले नाम :

आप वे कुछ खास लोग है जो भीड़ में भी अपनी एक अलग पहचान बना लेते हो. इसका कारण आपका आकर्षित करने वाला व्यवहार और व्यक्तित्व है. साथ ही आपकी मेहनत और आपकी हर काम में लगन आपको जीवन में हर सफलता की तरफ अगर्सर करती है. आपका धैर्य ही आपका सबसे बड़ा हथियार माना जा सकता है. आपमें एक गजब की क्षमता ये भी है कि आप खुद को किसी भी परिस्थिति में ढाल लेते हो. इसीलिए आपको लक्ष्य प्राप्ति में बाधाओं के बाद भी रोका नहीं जा सकता.

प्यार मोहब्बत में आप थोड़े कच्चे हो इसका कारण आपकी शर्म होती है. किन्तु आप अपने हर रिश्ते को पूरा सम्मान देते हो बस दिखाने से हिचकते हो.

आप अपने हर काम और बात में स्पष्टता रखते हो, चाहे फिर सामने वाले को आपकी बात बुरी लगे या अच्छी. ये आपकी हिमात का प्रतिक है. इतनी अच्छाईयों के बाद भी आपकी सबसे बड़ी कमी ये है कि आपको बात बात पर तुरंत गुस्सा आ जाता है.

S से शुरू होने वाले नाम

कारण आपको सामाजिक जीवन में काफी उन्नति मिलती है. आपकी कमजोरी आपकी भावुकता होती है. आप हर चीज में दिमाग घुसाने की कोशिश करते हो. जिस कारण से आपको असफल होने का डर सताता रहता है. जोकि गलत है. आपको खुद पर विश्वास रखना चाहियें और सही दिशा में दिमाग लगाना चाहियें.

आपके जीवन की शुरुआत प्रेम से होती है ठीक उसी तरह से आपके जीवन का अंत भी प्रेम से ही होता है. जीवन में इतना प्यार होने के पीछे का कारण ये है कि आप हर व्यक्ति को अपना बना लेते हो.