यहाँ 50-90 में नहीं यहां सिर्फ 5 रुपए में एक किलो बिक रहा प्याज

- in राष्ट्रीय

महाराष्ट्र की मंडियों में प्याज का दाम 500-800 रुपए क्विंटल तक गिर गया है। प्‍याज की कीमतों में इतनी गिरावट से किसानों को बड़ा संकट झेलना पड़ सकता है लेकिन वहीं प्याज की गिरती कीमत ग्राहकों को यह बड़ी राहत देगा।बता दें कि एक तरफ जहां प्याज के दाम आसमान छू रहे थे, प्याज 50 से 90 रुपए किलो तक बिक रहा था, लेकिन अब यह 5 से 10 रुपए किलो में बिक रहा है। हो गए ना हैरान।

यहाँ 50-90 में नहीं यहां सिर्फ 5 रुपए में एक किलो बिक रहा प्याजअहमदाबाद के किसान ने बताया कि बीते साल एक क्विंटल प्‍याज का दाम 1800 से 1900 रुपए के बीच चल रहे थे लेकिन इस बार यह 800 से 900 रुपए तक पहुंच गए हैं। हर साल देश में करीब 2500 ट्रक प्‍याज की बिक्री होती है। सेल बढ़ने पर यह 3000 ट्रक तक पहुंच जाती है। किसान ने बताया कि प्‍याज बड़ी मात्रा में कोल्‍ड स्‍टोरेज में भरा हुआ है। साथ ही नया प्‍याज भी आने लगा है।

सस्ती कीमत पर प्याज बेचने का एकमात्र कारण यही है। प्‍याज को ज्‍यादा समय तक स्‍टोर भी नहीं किया जा सकता। इन्‍हें स्‍टोर करने की जगह नहीं बची है। राजस्‍थान, गुजरात, मध्‍य प्रदेश और महाराष्‍ट्र से भी नया प्‍याज आना शुरू होगा। इससे उम्‍मीद की जा रही है कि पूरे साल प्‍याज के रेट गिरे रहेंगे। यह हालत इस साल मई से ही बनी हुई है। हालांकि एनसीआर में अब भी फुटकर प्‍याज की कीमत 20 रुपए किलो के आसपास बनी हुई है।

इस साल प्याज की अच्छी पैदावार हुई है। भोपाल कृषि उपज मंडी में ही 25,000 क्विंटल प्याज आने की उम्मीद है। किसान अच्‍छे माल के सौदे मंडी से बाहर कर रहे हैं। वे खराब माल मंडी में ला रहे हैं। इससे उन्हें उपज का कम दाम मिल रहा है। प्याज का यही हाल मध्‍य प्रदेश की अन्य मंडियों में भी है। देश में प्याज की सबसे बड़ी लासलगांव मंडी में भी कीमतों में भारी गिरावट आई है। यह मंडी महाराष्ट्र के नासिक में है। लासलगांव में प्याज का दाम 500 रुपए क्विंटल पर आ गया है।