यूरिन टेस्‍ट कराने के लिए बेटी को लेकर अस्‍पताल आई मां, डॉक्टर ने जो बताया सुनकर छूट गए पसीने

- in अजब-गजब

हमारे देश में आए दिन लड़कियों व महिलाओं से जुड़े कई सारी घटनाएं सामने आती हैं। हालांकि आपको बता दें कि सरकार ने कई सारे कानून बनाए हैं लेकिन उसके बावजूद भी ये घटनाएं कम नहीं हो रही हैं। वहीं आए दिन ये घटनाएं बढ़ती जा रही है दरअसल आज हम आपको एक ऐसी ही घटना से रूबरू कराने जा रहे हैं जो बेहद ही दर्दनाक है।

यूरिन टेस्‍ट कराने के लिए बेटी को लेकर अस्‍पताल आई मां, डॉक्टर ने जो बताया सुनकर छूट गए पसीनेहाल ही में पंजाब के पटियाला में 12 साल की एक नाबालिग लड़की को पेट दर्द की समस्‍या हो रही थी तभी उसकी मां उसे डॉक्‍टर के यहां लेकर गई जहां पर उसकी जांच की गई और फिर जब उसकी जांच हुई तो ऐसी सच्‍चाई सामने आई जिसे सुनकर हर कोई दंग रह गया। दरअसल आपको बता दें कि डॉक्टर ने लड़की की मां से जांच के बाद बताया कि लड़की दो महीने की गर्भवती है।

दरअसल आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एक प्राइवेट अस्‍पताल की डॉक्‍टर एमएस रेणु अग्रवाल ने बताया कि सोमवार को करीब 10 बजे सुबह एक मां अपनी बेटी को लेकर अस्पताल आई थी जिसके बाद मां ने कहा कि बच्ची के पेट में दर्द हो रहा है। फिर डॉक्‍टर ने नॉर्मल चेकअप किया और उसका इलाज शुरू किया, लेकिन इससे उसे कोई फर्क नहीं पड़ा।

उसी समय जब बच्ची का अल्ट्रासाउंड करने के लिए एड्रेस प्रूफ मांगा तो उनके पास वह नहीं था। बच्ची की मां ने बताया कि वह इलाके के एक मंदिर में सफाई का काम करती है। जिसके बाद डॉक्टर ने बच्ची का यूरिन टेस्ट करवाया तो बच्ची के गर्भवती होने का पता चला। फिर उसका अल्ट्रासाउंड कराया गया, जिसके बाद इसकी पुष्टि हो गई।

फिर क्‍या था इस बात की भनक लगते ही अस्पताल के डॉक्‍टर ने उसी समय तुरंत इसकी शिकायत पुलिस को दी। जैसे ही इस खबर की जानकारी पुलिस को मिली पुलिस तुरंत हॉस्पिटल पहुंच गई। थाना लाहौरी गेट के एएसआइ तेजिंदर सिंह और महिला कांस्टेबल को इस केस की जांच सौंपी गई है। अधिकारियों का कहना है कि महिला ने इतना ही बताया कि उसके पति मजदूरी करने गए हैं। वे शाम को ही आएंगे। उसके पास से घर का कोई एड्रेस प्रूफ भी नहीं था। रात नौ बजे के करीब महिला का पति अस्पताल पहुंचा, लेकिन उसने अभी कुछ भी पुलिस को नहीं बताया।

पुलिस की जानकारी के अनुसार इस घटना से बच्ची का पिता ही पर्दा उठा सकता है। बता दें कि फिल्‍हाल, चाइल्ड वेलफेयर अधिकारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए बच्ची को राजिंदरा अस्पताल में भर्ती करवा दिया। अस्पताल में बच्ची के साथ आई उसकी मां ने पुलिस को इस बारे में कुछ नहीं बताया। पुलिस के अनुसार बच्ची एसएसटी नगर के पास के इलाके में रहती है। अभी भी घटना की जांच की जा रही है और तो और पुलिस पूरी तरह से अपराधी को पकड़ने में लगी है।

हैरानी तो इस बात की होती है कि इंसान अपनी हैवानियत में इतना चूर हो जाता है उसे बड़े और बच्‍चे तक का अंतर नहीं समझ आता है और बच्‍ची के साथ ऐसा घिनौना काम कर देता है।

सभी बॉलीवुड तथा हॉलीवुड मूवीज को सबसे पहले फुल HD Quality में देखने के लिए यहाँ क्लिक करें