यूरोप की शैक्षिक यात्रा से स्वदेश लौटे सीएमएस छात्र दल का भव्य स्वागत

लखनऊ : सिटी मोन्टेसरी स्कूल, कानपुर रोड कैम्पस का 12 सदस्यीय छात्र दल यूरोप की शैक्षिक यात्रा से स्वदेश लौट आया। स्वदेश वापसी पर विद्यालय के शिक्षकों व अभिभावकों ने बड़ी ही गर्मजोशी से स्वागत किया। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने बताया कि यह छात्र दल इण्टरनेशनल अवार्ड फॉर यंग पीपुल प्रोग्राम (आई.ए.वाई.पी.) के अन्तर्गत यूरोप की शैक्षिक यात्रा पर गया था। इस यात्रा के दौरान सी.एम.एस. छात्र यूरोप के विभिन्न देशों जैसे जर्मनी, आस्ट्रिया, हंगरी, चेक रिपब्लिक आदि के शैक्षिक, ऐतिहासिक एवं प्राकृतिक स्थलों से रूबरू हुए, साथ ही विभिन्न देशों की संस्कृति, सभ्यता, खान-पान, बोल-चाल आदि का नजदीकी अनुभव प्राप्त किया। यूरोप की शैक्षिक यात्रा से स्वदेश लौटे छात्रों में आदित्य अग्रवाल, अनिकेत शर्मा, गगनदीप सिंह, राघव चन्द्रा, राघव त्रिपाठी, आस्था भाष्कर, वरनदीप कौर, अनुराग सिंह, सक्षम चतुर्वेदी एवं अर्श सलूजा शामिल थे। छात्र दल का नेतृत्व सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस की वरिष्ठ शिक्षिका सुश्री शिप्रा वाजपेयी ने किया जबकि शिक्षिका सुश्री स्वर्णलता डेप्युटी टीम लीडर के रूप में यूरोप गई थी।

श्री शर्मा ने बताया कि इस शैक्षिक यात्रा के दौरान सी.एम.एस. छात्रों ने मैरियन कॉलम, निम्फेनबर्ग पैलेस, स्कानब्रन पैलेस, पार्लियामेन्ट बिल्डिंग, मार्गरेट आईसलैण्ड, फिशनमेन्स बेशन, चेन-सस्पेन्शन ब्रिज, सेंट मार्टिन कैथड्रल, ग्रासलकोविच पैलेस (स्लोवाकिया का व्हाइट हाउस), गोथिक चर्च, मेडिवल एस्ट्रानॉमिकल क्लाक एवं अन्य बहुत से दर्शनीय स्थलों की सैर की। श्री शर्मा ने बताया कि वैज्ञानिक युग के महत्व को स्वीकारते हुए सी.एम.एस. अपने छात्रों का दृष्टिकोण वैज्ञानिक एवं विश्वव्यापी बनाने के उद्देश्य से जोरदार प्रयास कर रहा है एवं इन्हीं उद्देश्यों के अनुरूप छात्रों को विभिन्न शैक्षिक गतिविधियों एवं शैक्षिक यात्राओं में प्रतिभाग हेतु प्रोत्साहित करता है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि सी.एम.एस. छात्रों की यह शैक्षिक यात्रा उनमें प्रतिभा व दक्षता का विकास करने के साथ ही विश्व बन्धुत्व, विश्व एकता व विश्व शान्ति की भावना का विकास करने में भी मददगार साबित हुई है।