राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से 60 प्रतिशत अमेरिकी नाखुश, 49 फीसदी लोगों ने कहा- राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग लाना चाहिए


वॉशिंगटन : 60 फीसदी अमेरिकियों ने नौकरी देने के मुद्दे पर डोनाल्ड ट्रम्प से नाखुशी जताई है। वहीं, 49 प्रतिशत लोगों का मानना है कि अमेरिकी संसद में उनके खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव लाया जाना चाहिए। 36 फीसदी लोगों ने कहा कि वे ट्रम्प के परफॉर्मेंस से खुश हैं। यह बात शुक्रवार को जारी हुए एक ओपिनियन पोल में सामने आई। 26 से 29 अगस्त तक किए गए एक सर्वे में 1003 वयस्कों को शामिल किया गया था। यह सर्वे तब किया गया जब ट्रम्प के कैम्पेन के पूर्व चेयरमैन पॉल मानाफोर्ट को टैक्स और बैंक धोखाधड़ी का दोषी करार दिया जा चुका है। ट्रम्प के अटॉर्नी रहे माइकल कोहेन भी एक महिला को मुंह बंद रखने के लिए पैसे देने के दोषी पाए गए हैं।

महिला ने ट्रम्प के साथ रिश्ते होने का दावा किया था। इससे पहले अप्रैल में सर्वे किया गया था, तब 40 प्रतिशत लोगों ने ट्रम्प के काम को पसंद और 56 फीसदी लोगों ने नापसंद किया था। ताजा सर्वे के अनुसार, 46 प्रतिशत लोगों का मानना है कि ट्रम्प पर महाभियोग नहीं लाना चाहिए। 53 फीसदी लोग मानते हैं कि ट्रम्प कानूनी प्रक्रिया को बाधित करने की कोशिश कर रहे हैं। स्पेशल काउंसिल रॉबर्ट म्यूलर इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या ट्रम्प के इलेक्शन कैम्पेन में रूस की कोई भूमिका थी? वहीं, 35 प्रतिशत लोगों का कहना है कि ट्रम्प कानूनी प्रक्रिया में कोई दखलंदाजी नहीं कर रहे। 60 प्रतिशत लोग म्यूलर द्वारा की जा रही जांच के समर्थन में हैं तो 29 फीसदी लोगों ने इसका विरोध जताया। 45 फीसदी लोगों की राय है कि अर्थव्यवस्था सुधारने में ट्रम्प नाकाम रहे। जबकि इतने ही लोग मानते हैं कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में वह कामयाब रहे। उधर, 78 फीसदी रिपब्लिकंस मानते हैं कि ट्रम्प का अब तक का कार्यकाल शानदार रहा। वहीं, 93 फीसदी डेमोक्रेट्स और 59 फीसदी निर्दलीय ट्रम्प के कार्यकाल को बकवास बताया।