राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में छाया अँधेरा, घरों में टीवी बंद पड़े हैं, सड़कों पर जाम

नई दिल्ली : दिल्ली-एनसीआर में मौसम का मिजाज भीषण गर्मी और उमस के बीच आज बदला-बदला सा नजर आ रहा है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में तेज आंधी के बाद हल्की बारिश शुरू हो गई है। राजधानी में शनिवार सुबह नमी वाली रही। न्यूनतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम के सामान्य तापमान से दो डिग्री सेल्सियस अधिक था। आर्द्रता का स्तर 71 फीसदी दर्ज किया गया। फिलहाल आसमान में बादलों ने डेरा जमा लिया है और दिन में ही अंधेरा छा गया है। मौसम विभाग की ओर से कहा गया था कि दिल्ली-एनसीआर में हल्की बारिश और 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ आंधी-तूफान आ सकता है। मौसम के अचानक बिगड़ने की आशंका के मद्देनजर लोगों को सावधानी बरतनी होगी। गौरतलब है कि मौसम विभाग ने पहले ही अनुमान जता दिया था अगले कुछ घंटों में दिल्ली के कुछ क्षेत्रों सहित नोएडा, फरीदाबाद, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद व आसपास के क्षेत्रों में गरज के साथ वर्षा होगी। स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत के अनुसार, पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान, और दिल्ली में आंशिक बादल देखने को मिल रहे हैं। इस समय उत्तर-पश्चिमी राजस्थान से बिहार तक एक ट्रफ रेखा बनी हुई है। इसके अलावा उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश में चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र भी सक्रिय हो गया है। इसकी वजह से पूर्वी आ‌र्द्र हवाएं और अधिक प्रभावी होंगी। इसके चलते शनिवार व रविवार को पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान और दिल्ली में कुछ स्थानों पर आंधी-तूफान और गर्जना के साथ बारिश होगी। कुछ स्थानों पर मध्यम बारिश भी हो सकती है। इसके बाद मौसमी सिस्टम का प्रभाव दक्षिण में शिफ्ट हो जाएगा और बारिश में कमी आएगी। लेकिन, मानसून का इंतजार कर रहे दिल्ली वालों को मानसून के आने तक रुक-रुक कर बारिश का मजा मिलता रहेगा। बता देें कि दक्षिणी राज्यों के साथ महाराष्ट्र और गुजरात में मानसून आगे बढ़ रहा है। वहीं, उत्तर प्रदेश, बिहार, और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में शुक्रवार को मानसून के पहले की बारिश हुई। हिमाचल प्रदेश के शिमला सहित अन्य स्थानों पर तेज बारिश हुई है। मौसम विभाग ने बंगाल की खाड़ी में 9-10 जून और अरब सागर में कोंकण और गोवा तट पर 12 जून तक तेज हवा के साथ ऊंची समुद्री लहरें उठने की चेतावनी जारी की है। इस दौरान 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है। कर्नाटक, महाराष्ट्र सहित गुजरात के पश्चिमी इलाकों में अगले 24 घंटे में तेज बारिश की संभावना है।