राहुल गांधी को PM मोदी का जवाब- ईमानदार चौकीदार घोटालेबाजों को बर्दाश्त नहीं

- in फीचर्ड, राजनीति

लोकसभा चुनाव के तारीखों के ऐलान से पहले राजनीतिक रैलियों का दौर शुरू हो गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अलग-अलग शहरों में लगातार रैली कर रहे हैं. मोदी ने शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र में चौकीदार मजबूत है, इसीलिए कांग्रेस परेशान है. आज एजेंसियां विदेश से सभी राजदारों को वापस ला रही है और इस कारण आज वे दिन-रात मोदी को गाली दे रहे हैं.

राहुल गांधी को PM मोदी का जवाब- ईमानदार चौकीदार घोटालेबाजों को बर्दाश्त नहींउन्होंने कहा, ‘देश के अलग-अलग हिस्सों से ऐसे लोग महागठबंधन में मिल रहे हैं, जो कभी कांग्रेस को कोस कर उससे अलग हो गए थे. इनमें होड़ लगी है कि कौन मोदी को कितनी गाली दे सकता है. महामिलावट में शामिल होने का यही क्राइटेरिया है. ये कितनी भी महामिलावट कर लें, चौकीदार चुप बैठने वाला नहीं है. मैं उनमें से नहीं हूं जो अपनी किताब खुलने के डर से शक्तिशाली सुल्तानों पर हाथ डालने से बचते थे.’

कर्जमाफी का सच बिचौलियों का भला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कर्जमाफी के नाम पर बिचौलियों का पेट भरने वाली कांग्रेस का यही तरीका है. ये हमेशा 10 वर्ष बाद ही कर्जमाफी की योजना लेकर आते हैं. पहले 2009 का चुनाव जीतने के लिए ये योजना लाए थे, अब 2019 में फिर लेकर आ गए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की कर्जमाफी का सच यही है कि बिचौलियों का भला होता है और किसान फिर कर्ज के बोझ तले दब जाता है. 100 में से 25-30 किसानों को ही इसका लाभ मिल पाता है. अभी तो इससे भी कम किसानों को इसका लाभ मिल रहा है. ये भेदभाव का रास्ता मोदी को मंजूर नहीं है.

मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने 55 साल में गरीबों को बर्बाद किया, देश को गुमराह किया. हमने गरीबों में नया विश्वास भरा है, नई उम्मीद जगाई है. उसकी अंगुली पकड़ के आगे बढ़ने के रास्ते खोजे हैं. उन्होंने आगे कहा कि ऐसी कोई भी योजना जिसमें बिचौलिए न हों वो कांग्रेस को रास नहीं आती है जिन्हें पीढ़ियों से मलाई खाने की लत हो. वो चौकीदार की ऐसी चाक-चौबंद योजना को जारी कैसे रख सकते.

उन्होंने कहा कि घोटाले और घपलों की इस नीति का ही नतीजा है कि यहां की सरकार को सीबीआई से डर लग रहा है. कांग्रेस सरकार अभी से अपने भ्रष्टाचार को छुपाने में लगी है. दिल्ली से कांग्रेस को यही संस्कार मिलते हैं. उन्हें अब छत्तीसगढ़ को अपना एटीएम बनाना है. यहां से बक्से भर–भर के पैसे दिल्ली भेजने हैं.

उन्होंने राज्य की नई कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार पहले से चल रहे अच्छे काम को ठप कर रही है. मोदी ने कहा, ‘यहां के विधानसभा चुनाव के बाद हर वर्ग के विकास के लिए हमारा संकल्प और मजबूत हुआ है. मैं विश्वास दिलाता हूं कि छत्तीसगढ़ की सड़कों, रेलवे के काम और उद्योग धंधे लगाने के काम में हम और तेजी लाएंगे. हालांकि नई सरकार ने पुरानी सरकार के फैसले को पलट रही है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘छत्तीसगढ़ की नई सरकार ने पहला फैसला, आयुष्मान भारत योजना से छत्तीसगढ़ को अलग करने का किया और दूसरा फैसला किया कि सीबीआई को राज्य में आने नहीं देंगे. मैं यहां की कांग्रेस सरकार से जानना चाहता हूं कि आखिर वे छत्तीसगढ़ के गरीबों को किस बात की सजा दे रहे है.’

उन्होंने कहा, ‘आपके साथ मेरा नाता बहुत पुराना है. जब सत्ता के गलियारों में हम कहीं नहीं थे, तब संगठन के कार्यों के लिए मैं आपके बीच बैठता था. यहां के कार्यकर्ताओं में बीजेपी के प्रति जो मैंने भाव देखा, वो अभूतपूर्व था. अटल जी के प्रति छत्तीसगढ़ के लोगों की श्रद्धा अविस्मरणीय है.’