राहुल गांधी ने बताया, ’ नोटिस को ‘सूचना’ में बदलकर मोदी सरकार ने विजय माल्या को देश से भगाया

भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या को लेकर सियासी घमासान लगातार तेज होता जा रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमलावर रहे। उन्होंने आरोप लगाया कि सीबीआई ने ‘हिरासत’ नोटिस को ‘सूचना’ में बदलकर माल्या को देश से निकल भागने में मदद की। सीबीआई सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रिपोर्ट करती है। ऐसे में यह समझ से परे है कि सीबीआई ने मोदी की अनुमति के बिना इतना बड़ा कदम उठा लिया। राहुल गांधी ने बताया, सरकार ने शराब कारोबारी विजय माल्या को कैसे भगाया

माल्या ने बुधवार को दावा किया था कि उसने ब्रिटेन आने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की थी। इससे कांग्रेस को सरकार पर हमलावर होने का मौका मिल गया। राहुल ने बृहस्पतिवार को कहा था कि जेटली ने माल्या को देश छोड़ने में मदद की। वह लगातार झूठ बोल रहे हैं। उन्हें पद से इस्तीफा देना चाहिए और मामले की जांच होनी चाहिए। राहुल ने जेटली-माल्या की मुलाकात के गवाह के तौर पर कांग्रेस सांसद पीएल पुनिया को पेश किया था। भाजपा ने पलटवार करते हुए कहा था कि गांधी परिवार के माल्या से करीबी संबंधों के कारण उसे नियमों को ताक पर रखकर बैंकों से कर्ज दिलाया गया। इसलिए राहुल गांधी को सभी पदों से इस्तीफा दे देना चाहिए।

यूथ कांग्रेस ने की जेटली के इस्तीफे की मांग

यूथ कांग्रेस की दिल्ली इकाई ने जेटली के खिलाफ प्रदर्शन कर इस्तीफे की मांग की। यूथ कांग्रेस ने राजधानी के उद्योग भवन से मार्च निकाला, जिसे जेटली के आवास तक पहुंचने से पहले ही रोक दिया गया। इंडियन यूथ कांग्रेस के उपाध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने कहा कि राष्ट्रवाद की बात करने वाली भाजपा ने देश के साथ धोखा किया है। प्रदर्शनकारियों ने मोदी और जेटली के खिलाफ नारेबाजी करते हुए माल्या के फरार होने पर जवाब मांगा। इस दौरान जेटली, मोदी और माल्या के मास्क लगाकर उसके देश से फरार होने की घटना का चलते वाहन पर मंचन भी किया गया।