रीठा एक फायदे अनेक

- in जीवनशैली

ईश्वर ने धरती पर सब कुछ हमारी जरूरत के अनुसार ही बनाया है. लेकिन आधुनिकता की अंधी दौड़ में हम अपनी पुरातन सभ्यता को भूल ही गए हैं| ऐसे ही एक जड़ी बूटी है रीठा, रीठा के पेड़ से कीड़े-मकोड़े और सांप एवं चूहे दूर रहते हैं, इसलिए धान की खेती करने वाले अपने खेतों में रीठा लगाते हैं ताकि उनकी फसल चूहों से बची रहे।रीठा एक फायदे अनेक

साथ ही रीठा में मौजूद एंटी-वेनम से सांप या बिच्छू के काटे का जहर उतारा जा सकता है।रीठा (Sapindus Mukorossi) के वृक्ष भारत के प्राय: सभी  इलाकों में पाए जाते हैं. यह वृक्ष आकार में काफी बड़े होते हैं. इसके पत्ते गूलर के पत्तों से थोड़े बड़े होते हैं. यह पेड़ साधारण होने के साथ गुणों से भरा होता है. साबुनों की अपेक्षा रीठा ज्यादा लाभ दायक होता है. शैम्पू की जगह रीठा (Sapindus Mukorossi) बालों के लिए ज्यादा श्रेष्ठ होता है|

रीठे के फायदे :- 

1  रीठा के पानी से बाल धोने से  बाल स्वस्थ और घने एवं चमकीले होते हैं,इसमें नेचुरल क्लींजिंग एजेंट हैं जो स्किन को हानि नहीं पहुंचाते।

2  रीठा से कपड़े,गहने और एंटीक आइटम्स भी साफ़ किये जा सकते हैं।

3  इससे बालों की जूंए भी ख़त्म होती है और कोई नुक्सान नहीं होता।

4  रीठा को आंवला पाउडर की ही तरह बाल और शरीर साफ़ करने के काम में लिया जा सकता है।
इससे बाल बढ़ते हैं और डैंड्रफ ख़त्म होती है।

5 रीठा के फल की मज्जा (फल के बीच का भाग) को तम्बाकू की तरह हुक्के में रखकर पीने से बिच्छू का जहर खत्म हो जाता है।

6 रीठे के फल को पानी में पकाकर, थोड़ी मात्रा में लेने से उल्टी के द्वारा जहर बाहर निकल जाता है।

7 रीठे की गिरी को सिरके में पीसकर विषैले कीटों (कीड़ों) के काटने के स्थान पर लगाने से राहत मिलती है।