लखनऊ में 17 दिनों तक रद्द रहेंगी 33 ट्रेनें, 12 डायवर्ट, कई के प्लैटफॉर्म बदले गए

- in BREAKING NEWS, TOP NEWS, लखनऊ

लखनऊ : उत्तर रेलवे ने आज सुबह से चारबाग स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक पर वॉशिबल एप्रन (रेलवे ट्रैक का मेंटेनेंस) बनाने का काम करेगा। इसके चलते 17 दिनों तक (12 जुलाई) 33 एक्सप्रेस, पैसेंजर और मेमू ट्रेनें रद्द रहेंगी। जबकि 12 ट्रेनें डायवर्ट की जाएंगी। ट्रेनों के रद्द और डायवर्ट किए जाने से हजारों यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। दूसरी ओर प्लैटफॉर्म एक पर आने वाली ट्रेनों के लिए नए प्लैटफॉर्म भी नामित किए गए हैं। वॉशिबल एप्रेन का काम 12 जुलाई तक चलेगा।
कौन सी ट्रेनें हुई हैं रद्द : लखनऊ- नई दिल्ली गोमती एक्सप्रेस, सियालदह-दिल्ली एक्सप्रेस, कानपुर-लखनऊ मेमू , मालदा टाउन-आनंद विहार टर्मिनल एक्सप्रेस, लखनऊ-सहारनपुर पैसेंजर, लखनऊ-प्रयाग पैसेंजर, बरौनी-अंबाला हरिहर एक्सप्रेस ट्रेन, लखनऊ-वाराणसी पैसेंजर, दानापुर-आनंद विहार टर्मिनल जनसाधारण एक्सप्रेस, प्रयाग-बरेली पैसेंजर, झांसी-लखनऊ-झांसी पैसेंजर, लखनऊ-सुल्तानपुर पैसेंजर, प्रयाग-लखनऊ पैसेंजर, सुल्तानपुर-लखनऊ पैसेंजर, प्रतापगढ़-लखनऊ पैसेंजर, प्रयाग घाट-बरेली पैसेंजर, लखनऊ-रहीमाबाद पैसेंजर, लखनऊ-शाहजहांपर मेमू, बाराबंकी-कानपुर सेंट्रल मेमू।
जनता एक्सप्रेस समेत तीन रेलगाड़ियां 10 जुलाई तक रद्द : दूसरी ओर मुरादाबाद मंडल के बरेली स्टेशन पर प्लैटफॉर्म नंबर-3 पर ट्रैक मैंटिनेंस का काम मंगलवार से शुरू होना है। इस काम के चलते ट्रेनें जुलाई तक निरस्त की गई हैं। जनता एक्सप्रेस, दिल्ली-फैजाबाद एक्सप्रेस और आनंद विहार-दानापुर जनसाधारण एक्सप्रेस 25 जून से 10 जुलाई तक निरस्त रहेंगी।
रोडवेज चलाएगा 100 अतिरिक्त बसें : चारबाग स्टेशन पर 33 ट्रेनों के कैंसल होने के बाद रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक पल्लव बोस ने यात्रियों की सुविधा के लिए अतिरिक्त बसों के संचालन का निर्णय किया है। ये बसें 12 जुलाई तक चारबाग, आलमबाग और कैसरबाग बस अड्डे से चलाई जाएंगी। उन्होंने बताया कि दिल्ली रूट पर यात्रियों की उपलब्धता के अनुसार अतिरिक्त बसों का संचालन किया जाएगा। इसके अलावा कई अन्य रूट चिह्नित किए गए हैं, जिन पर चार-चार अतिरिक्त बसें चलाई जाएंगी। इसमें आलमबाग टर्मिनल से दिल्ली, झांसी, प्रयाग, वाराणसी, सुलतानपुर की बसें चलेंगी। जबकि चारबाग से कानपुर, सहारनपुर मार्ग की अतिरिक्त बसें चलाई जाएंगी।