लगातार 14 सालों तक सोती रही लक्ष्मण की पत्नी उर्मिला, रावण के बेटे से था ये कनेक्शन

- in अद्धयात्म

कथानक : दोस्तों हिन्दू धर्म में दो ग्रन्थ सबसे अधिक फेमस हुए हैं. पहला महाभारत और दूसरा रामायण. यदि रामायण की बात की जाए तो इसकी कहानी भारत का बच्चा बच्चा जानता हैं. इनके प्रमुख किरदारों राम, सीता, लक्ष्मण, हनुमान और रावण के बारे में तो हर कोई जानता हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि रावण के ऊपर राम की जीत में इन प्रमुख किरदारों के अलावा एक और व्यक्ति की बहुत अहम भूमिका रही हैं. इस व्यक्ति के बारे में बहुत ही कम लोगो को ज्ञान हैं. दरअसल हम यहाँ लक्ष्मण की पत्नी उर्मिला की बात कर रहे हैं. रामायण में लक्ष्मण की भूमिका के बारे में तो आप सभी जानते ही हैं लेकिन उनकी पत्नी उर्मिला का भी इसमें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से बड़ा योगदान रहा हैं. तो चलिए आज लक्ष्मण की पत्नी उर्मिला के बारे में कुछ दिलचस्प बातें जानते हैं.

लगातार 14 सालों तक सोती रही लक्ष्मण की पत्नी उर्मिला, रावण के बेटे से था ये कनेक्शन

उर्मिला भी जाना चाहती थी वनवास

जब भगवान राम और सीता संग लक्ष्मण भी वनवास जा रहे थे तो उनकी पत्नी उर्मिला ने भी साथ में जाने की जिद करी. लेकिन लक्ष्मण ने उर्मिला को साथ में ले जाने से इनकार कर दिया. लक्ष्मण का कहना था कि मैं वनवास भैया राम और भाभी सीता की देखभाल करने जा रहा हूँ. ऐसे में तुम भी मेरे साथ चलोगी तो मेरी जिम्मेदारी बढ़ जाएगी. इसलिए तुम घर पर ही रहो.

14 साल तक नहीं सोए लक्ष्मण

हुआ दरअसल ये कि वनवास के पहले दिन जब भगवान राम और माता सीता सो गए तो लक्ष्मण उन पर निगरानी रखे हुए थे. कुछ देर बाद निद्रा देवी (नींद की देवी) लक्ष्मण के पास आने लगी. ऐसे में लक्ष्मण ने उन्हें दूर जाने का कहते हुए विनती करी कि अभी मैं सोने का रिस्क नहीं ले सकता हूँ. मुझे मेरे भैया और भाभी की रक्षा करनी हैं. ऐसे में निंद्रा देवी ने लक्ष्मण की बात मान ली और उन्हें 14 सालों तक नींद से दूर रहने की सहमती दे दी. हालाँकि बदले में उन्होंने किसी और को लक्ष्मण की नींद की जिम्मेदारी लेने को कहा. ऐसे में लक्ष्मण बोले कि मेरी पत्नी उर्मिला मेरी जगह नींद ले लिया करेगी. इसके बाद निंद्रा देवी इस सौदे से सहमत हो गई.

14 साल तक सोती रही उर्मिला

अब रोजाना निंद्रा देवी लक्ष्मण के पास ना जाते हुए सीधा उर्मिला के पास पहुँच जाती. उर्मिला भी अपने पति के लिए ये जिम्मेदारी लेने को ख़ुशी ख़ुशी तैयार हो गई. इस तरह उर्मिला के 14 सालों तक सोते रहने से उनके पति लक्ष्मण बिना किसी थकान या तनाव के जागकर राम – सीता की देखभाल करते रहे.

उर्मिला की वजह से हुआ रावण के बेटे का वध

आपको जान हैरानी होगी कि रावण के बेटे मेघनाथ की मौत की वजह का कनेक्शन सीधा लक्ष्मण की पत्नी उर्मिला से जुड़ा हैं. दरअसल मेघनाथ को एक वरदान प्राप्त था जिसके अंतर्गत उसका वध सिर्फ वही व्यक्ति कर सकता था जो 14 सालो से सोया नहीं हैं. ऐसे में लक्ष्मण की नींद उर्मिला द्वारा ले लेने की वजह से लक्ष्मण अपने आप ही 14 साल तक ना सोने वाले व्यक्ति बन गए थे. इस तरह लक्ष्मण मेघनाथ का वध कर उन्हें मोक्ष दिलाने में कामयाब रहे.