लापरवाही के चलते धंसा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे


लखनऊ : प्रदेश की महत्त्वाकांक्षी परियोजना आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के धंसने को लेकर सरकार की ओर से गठित जांच की रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट में एक्सप्रेस-वे की निर्माण एजेंसी की लापरवाही की बात सामने आई है। जांच एजेंसी ने यूपी इंडस्ट्रियल ऐंड एक्सप्रेस वेज अथॉरिटी (यूपीईडा) को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। गौरतलब है कि इसी साल 31 जुलाई को तेज बारिश के चलते आगरा एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन धंस गई थी।

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन बारिश के पानी की निकासी का पर्याप्त इंतजाम न होने से धंसी थी। यूपीईडा ने सड़क धंसने की जांच का काम राइट्स को सौंपा था। राइट्स की रिपोर्ट के मुताबिक कंस्ट्रक्शन कंपनी पीएनसी इंफ्राटेक द्वारा निर्धारित मानक से पाइप लाइन न डालने से सर्विस लेन धंस गई थी। यूपीईडा ने पहले की साफ कर दिया था कि बारिश के चलते धंस गए आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे की मरमत का काम निर्माता कंपनी पीएनसी ही कराएगी। गौरतलब है कि 13,200 करोड़ रुपये की लागत से बने आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे में बारिश के कारण दरार आ गई थी। इससे आगरा एक्सप्रेस-वे के निर्माण की गुणवत्ता पर भी सवाल खड़े होने लगे थे और निर्माण कार्य करने वाली कंपनी की विश्वसनीयता पर भी।