लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में एनडीए के बीच सीटों का हो गया बंटवारा

पटना :  लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में एनडीए के बीच सीटों का बंटवारा हो गया है। जनता दल यूनाइटेड(जदयू) नेता वशिष्ठ नारायण सिंह ने एनडीए में सीटों के बंटवारे की आधिकारिक रूप से घोषणा की है। सीटों के बंटवारे के लिहाज से देखें तो सीमांचल की ज्यादातर सीटों पर जेडीयू चुनाव लड़ेगी। जिसमें किशनगंज और भागलपुर भी शामिल है। छह सीटें राम विलास पासवान की राष्ट्रीय लोकजनशक्ति पार्टी(लोजपा) को मिली है। बिहार की कुल 40 लोकसभा सीटों में से इस बार बीजेपी और जेडीयू 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ रहीं हैं। जबकि छह सीट सहयोगी दल लोक जनशक्ति पार्टी को मिली है। पटना साहिब, औरंगाबाद, सासाराम में बीजेपी लड़ेगी। लोक जनशक्ति पार्टी को हाजीपुर, वैशाली, समस्तीपुर सहित कुल छह सीटें दी गई हैं। जबकि बीजेपी को वत्सल, सासाराम, औरंगाबाद, पश्चिमी चंपारण, पूर्वी, मधुबनी, अररिया, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, महराजगंज, उधियारपुर, बेगूसराय, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, सासाराम जैसी सीटें मिलीं हैं।

वहीं जनता दल युनाइटेड(जेडीयू) को बाल्मीकि नगर, सीतामढ़ी , झंझारपुर , सुपौल , किशनगंज , कटिहार ,पूर्णिया, मधेपुरा , गोपालगंज , सिवान , भागलपुर , बांका , नालन्दा , काराकाट , जहानाबाद और गया सीट मिली है। बिहार में एनडीए का मुकाबला विपक्षी दलों के महागठबंधन में शामिल है। इस महागठबंधन में कांग्रेस के अलावा राष्ट्रीय जनता दल (राजद), हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी, विकासशील इंसान पार्टी शामिल है। कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि महागठबंधन में सभी कुछ तय कर लिए गए हैं। कहीं कोई नाराजगी नहीं है। हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी की नाराजगी के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि जो भी नाराजगी है, वह दूर कर ली जाएगी. कांग्रेस ने बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से 11 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कही है। अन्य सीटों पर महागठबंधन के घटक दल लड़ेंगे।