लड़कियों से जबरन देह व्यापार करवाने वाले सोनू पंजाबन के दो साथी और गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने नाबालिग लड़कियों को देह व्यापार में धकेलने वाले सोनू पंजाबन के दो साथियों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों की पहचान जितेंद्र कुमार उर्फ लाला और सतपाल सि‍ंह के रूप में हुई है। पुलिस का दावा है कि दोनों मानव तस्करी में करीब आठ वर्ष से सक्रिय हैं। दोनों करीब तीन हजार किशोरियों और युवतियों को देह व्यापार के धंधे में धकेल चुके हैं। क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नजफगढ़ इलाके से वर्ष 2014 में 16 वर्षीय किशोरी अचानक घर के पास से रहस्यमय परिस्थितियों में लापता हो गई थी।

बाद में परिजनों की शिकायत पर नजफगढ़ थाना पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज किया था। काफी तलाश के बावजूद पुलिस नाबालिग का कोई सुराग नहीं लगा पाई थी। जिसके बाद यह मामला वर्ष 2017 के शुरुआत में क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया था। पुलिस टेक्निकल सर्विलांस व अन्य तरीकों से किशोरी की तलाश में जुटी थी। इसी बीच जून 2017 में अचानक लापता किशोरी खुद वापस घर लौट आई थी। किशोरी ने पुलिस को बताया था कि दो लोगों ने घर के पास से ही उसे अगवा किया था। बाद में उसे सोनू पंजाबन के हवाले कर दिया गया था। सोनू ने बंधक बनाकर उससे देह व्यापार कराया।

इस दौरान वह कई बार दलालों के हाथ बेची और खरीदी गई। पुलिस के अनुसार, अंत में सतपाल और जितेंद्र आरोपितों ने नाबालिग को सोनू पंजाबन से दो लाख रुपये में खरीदा। दोनों आरोपित भी मानव तस्करी में कुख्यात सोनू पंजाबन के साथ मिलकर लड़कियों की खरीद-फरोख्त करते थे।

वे विदेशी लड़कियों की तस्करी में भी शामिल रहे हैं। सतपाल ने जितेंद्र के साथ मिलकर नाबालिग को एक साल तक रोहतक स्थित अपने घर में बंधक बनाकर रखा हुआ था। वहां उसका कई बार शोषण किया गया। इसकी जानकारी के बाद इस मामले में पुलिस ने दिसंबर 2017 में सोनू पंजाबन को गिरफ्तार किया था। जबकि दोनों आरोपित फरार चल रहे थे।

गिरफ्तारी के लिए साइबर सेल बदमाशों पर नजर रख रही थी। इसी दौरान सुराग मिलने पर पुलिस ने दोनों को दबोचने की योजना बनाई। इसके तहत 11 जुलाई को दो महिलाओं को जितेंद्र के पास भेजा। महिलाओं से उससे लड़कियां खरीदने की बात कही।

उधर, जैसे ही जितेंद्र अपने घर पहुंचा पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वहीं, उसकी निशानदेही पर पुलिस की टीम ने पीरागढ़ी से सतपाल को भी धर दबोचा। उसके पास से पुलिस ने 11 मोबाइल फोन, सात सिम कार्ड इत्यादि बरामद किए हैं।