वेंकैया नायडू ‘विहिप कार्यक्रम’ में 80 देशों के 2500 हिंदुओं को करेंगे संबोधित

उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू शिकागो में स्वामी विवेकानंद के धर्म संसद में दिए भाषण की 125वीं वर्षगांठ पर आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। इस कार्यक्रम में नायडू भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करेंगे। बतौर उप राष्ट्रपति नायडू की यह पहली अमेरिकी यात्रा है।
 

साल 1893 आयोजित विश्व धर्म संसद में स्वामी विवेकानंद ने एक ओजस्वी भाषण दिया था जिसकी दुनियाभर में चर्चा हुई थी। विवेकानदं के उस ऐतिहासिक भाषण की 125वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है।  विश्व हिन्दू परिषद अमेरिका द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में 80 से अधिक देशों के 2,500 हिन्दुओं के हिस्सा लेने की उम्मीद है। 

इस कार्यक्रम का आयोजन विश्व हिन्दू कांग्रेस (डब्ल्यूएचसी) के अंतिम दिन किया जाएगा जो कि सात सितंबर को शुरू होगा और नौ सितंबर को समाप्त होगा। डब्ल्यूएचसी हर चार साल पर कार्यक्रम आयोजित करती है। 

डब्ल्यूएचसी के संयोजक अभय अस्थाना ने सोमवार को कहा, ‘‘उप राष्ट्रपति शिकागो में 1893 में स्वामी विवेकानंद के भाषण की 125वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आ रहे हैं।’’ 

उम्मीद है कि नायडू अपने संबोधन में इस बारे में बात करेंगे कि समकालीन विश्व में विवेकानंद की शिक्षाओं की क्या प्रासंगिकता है और विश्व एवं समाज की प्रमुख समस्याओं के समाधान में वह कैसे उपयोगी हो सकती है।