शिवपाल ने किया सरकारी बंगले प्रवेश, कहा अब पता चल जाएगी सपा की क्या है हैसियत

लखनऊ: हाल ही अखिलेश यादव के चाचा ने समाजवादी सेकुलर मोर्चा नाम की अलग पार्टी बनायीं है। शिवपाल सिंह यादव के पार्टी के गठन के बाद ही मायावती का बांग्ला उनको अलॉट कर दिया गया। आज महाष्टमी के मौके पर अपने परिवार और समर्थकों समेत नए सरकारी आवास 6 लालबहादुर शास्त्री पर में गृह प्रवेश किया। इससे पहले शिवपाल ने सरकार की तरफ से आवंटित आवास पर पूजा-अर्चना की। शिवपाल अपने इस बंगले का इस्तेमाल पार्टी दफ्तर के तौर पर करेंगे। शिवपाल कई छोटी छोटी पार्टियों को जोड़ कर अपनी पार्टी सेकुलर मोर्चा को मज़बूत करने की फ़िराक में है। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता का विश्वास बहुत से दलों से उठ गया है। इसलिए हमने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाया है। इसी बंगले से बैठकर हम काम करेंगे और यहीं पर हम लोगों से मिलेंगे। उन्होंने कहा कि समान विचारधारा वाले दलों से हमारा संपर्क हो चुका है। जिन लोगों को भी सम्मान नहीं मिल रहा है और चुपचाप घरों में बैठे हैं। बहुत से लोग अलग अलग विचारधारा के है उन सब से हम संपर्क कर रहे हैं। महागठबंधन के सवाल पर शिवपाल यादव ने कहा कि महागठबंधन में शामिल होने के लिए हम विचार करेंगे। अगर गठबंधन में हमें शामिल किया जाएगा तो हम उस पर जरूर विचार करेंगे। चाचा ने भतीजे अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी बनाने में मेरा उनसे ज्यादा योगदान है। हम ही समाजवादी पार्टी हैं और हम सेकुलर भी हैं। समाजवादी सेकुलर मोर्चा को भाजपा की बी टीम कहे जाने पर शिवपाल ने कहा कि जहां-जहां चुनाव हो रहे हैं वहां समाजवादी पार्टी की हैसियत क्या है पता चल जाएगा। शिवपाल यादव ने दावा किया कि उन्होंने मुलायम सिंह यादव के आशीर्वाद से ही समाजवादी सेकुलर मोर्चा बना बनाया है। नेताजी का आशीर्वाद हमारे साथ हमेशा रहा है और आगे भी रहेगा। शिवपाल यादव ने दावा किया कि 2019 के लोकसभा चुनाव में समाजवादी सेकुलर मोर्चा के बिना केंद्र में कोई सरकार नहीं बनेगी। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में हमारा जलवा दिखेगा।