संदीप बक्शी बने ICICI बैंक के नए COO-डायरेक्टर, जांच होने तक चंदा कोचर की छुट्टी

वीडियोकॉन लोन विवाद में आरोपों का सामना कर रही चंदा कोचर को ICICI बैंक के पूर्णकालिक निदेशक और चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर (COO) के पद से हदा दिया गया है. उनकी जगह संदीप बक्शी की नियुक्ति की गई है. बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जांच पूरी होने तक कोचर छुट्टी पर रहेंगी.

संदीप बक्शी बने ICICI बैंक के नए COO-डायरेक्टर, जांच होने तक चंदा कोचर की छुट्टीआईसीआईसीआई बोर्ड की मीटिंग के बाद जारी बयान में कहा गया कि चंदा कोचर सीईओ/प्रबंध निदेशक के पद पर बनी रहेंगी. कोचर की गैर मौजूदगी में COO संदीप बक्शी बोर्ड को रिपोर्ट करेंगे. इसके अलावा बैंक का पूरा कारोबार और कॉर्पोरेट कामकाज बक्शी ही संभालेंगे. बोर्ड के सभी कार्यकारी निदेशक और प्रबंधन संदीप बक्शी को रिपोर्ट करेगा.

बक्शी को पांच साल के लिए नियुक्त किया गया है. वह बैंक की एमडी और सीईओ चंदा कोचर को ही रिपोर्ट करेंगे. चंदा कोचर के छुट्टी पर रहने तक वह बैंक के बोर्ड को रिपोर्ट करेंगे.

कौन हैं संदीप बक्शी

बक्शी 19 जून से बैंक के सीओओ का पदभार संभाल लेंगे. उनकी नियुक्ति विभिन्न मंजूरी पर निर्भर है. वह अबतक आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) हैं. बैंक के निदेशक मंडल ने एन एस कन्नन को आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस कंपनी का प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) नियुक्त करने की भी सिफारिश की.

चंदा पर लगे हैं आरोप

बता दें कि चंदा कोचर पर वीडियोकॉन ग्रुप को दिए गए लोन को लेकर आरोप लग रहे हैं. उन पर आरोप है कि उन्होंने वीडियोकॉन ग्रुप को लोन देने के दौरान अनियमितता बरती और अवैध तरीके से निजी लाभ लिया. इसमें चंदा कोचर के पति दीपक कोचर का नाम भी सामने आया है.

पूर्व जज कर रहे हैं जांच
चंदा कोचर पर लगे आरोपों की जांच का जिम्मा सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज बीएन श्रीकृष्ण को दिया गया है. श्रीकृष्ण के नेतृत्व में आईसीआईसीआई बैंक के बोर्ड ने वीडियोकॉन मामले की स्वतंत्र जांच की है. आईसीआईसीआई बोर्ड ने इस मामले की जांच करने के श्रीकृष्ण को सबसे बेहतर व्यक्ति माना है क्योंकि उन्हें वित्तीय मामलों की भी अच्छी समझ है.

पूर्व जज श्रीकृष्ण ये पता लगाने की कोश‍िश करेंगे कि क्या चंदा कोचर ने वीडियोकॉन ग्रुप को लोन देने के मामले में नियमों का उल्लंघन किया है? सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज इससे पहले फाइनेंशियल सेक्टर लेजिस्लेटिव रिफॉर्म्स कमीशन (FSLRC) के चेयरमैन रह चुके हैं. मौजूदा समय में वह देश में डाटा प्रोटेक्शन की नई नीति तैयार करने में जुटी समिति के प्रमुख हैं.

सेबी और आयकर विभाग की भी जांच

इससे पहले सेबी ने भी अप्रैल में इस मामले की प्राथमिक जांच की थी. इसके अलावा आयकर विभाग भी इस मामले की स्वतंत्र जांच कर रहा है. आईसीआईसीआई बैंक के शेयर सोमवार को 10,20 अंक चढ़कर 292.50 पर बंद हुए.