संसद में बना रहा चर्चाओं का विषय, अरुण जेटली ने पीएम मोदी से नहीं मिलाया हाथ

नई दिल्ली : संसद में गुरुवार का दिन वैसे तो उपसभापति चुनाव के नाम रहा, लेकिन वहीं एक तस्वीर भी सामने आयी जो उस दौरान चर्चाओं का विषय बन गयी| जी हाँ ये तस्वीर है भारत के प्रधानमंत्री मोदी और किडनी ट्रांसप्लांट के बाद तीन महीने बाद संसद में आए अरुण जेटली की। जिसका किस्सा काफी दिलचस्प है। बता दें कि किडनी ट्रांसप्लांट ऑपरेशन के बाद अरुण जेटली संसद में पहली बार आए थे। वहीं उन्होंने राज्यसभा के सभापति के चुनाव में वोट दिया।

पीएम मोदी ने हरिवंश सिंह की जीत के बाद उनकी सीट की तरफ गए और उन्हें गर्मजोशी से हाथ मिलाकर बधाई दी। इसके बाद वे अपनी सीट की ओर लौटकर बगल में बैठे नेता सदन अरुण जेटली की तरफ हाथ बढ़ाया, लेकिन अरुण जेटली ने मुस्कराते हुए हाथ न मिलाकर हाथ जोड़कर नमस्कार कर लिया। वहीं इसके जवाब में पीएम मोदी ने भी मुस्कुराकर नमस्ते के रूप दिया| दरअसल, बात यह है की हाल ही में इनकी किडनी ट्रांसप्लांट सर्जरी हुई है। ऐसे में उन्हें अपने को काफी बचाकर रखना होता है। वहीं डॉक्टरों ने उनको सलाह दी है, कि वे लोगों से कम मिलेजुले। यही कारण था कि वह करीब 3 महीने से घर में ही रहें। वहीं इस दौरान वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी रेल मंत्री पीयूष गोयल को दी गई है। वहीं राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने पहले ही सदन में चेतावनी दी कि कोई भी अरुण जेटली को कोई छूने या उनके करीब जाने की कोशिश न करे। अभी उनकी सेहत में सुधार हो रहा है|