संस्कृति राय मर्डर केस का खुलासा, रेप की कोशिश में नाकाम होने के बाद ऑटो ड्राइवर ने की थी हत्या


लखनऊ : राजधानी पुलिस ने संस्कृति राय मर्डर का आज खुलासा किया। पुलिस ने एक युवक को सीतापुर जिले से गिरफ्तार कर लिया है। एडीजी जोन राजीव कृष्णा ने बताया, रेप करने की कोशिश में असफल होने पर दो ऑटो रिक्शा चालक ने संस्कृति राय की हत्या की थी, एक सीतापुर और दूसरा लखीमपुर का रहने वाला था। उन्होंने बताया कि कार्रवाई के लिए हमने 15 किमी के वीडियो फुटेज देखे। 275 ऑटो चालक और 372 ओला कैब के साथ साथ 20 हजार मोबाइल नंबर को ट्रेस किए। नम्बरों के एनालिसिस के माध्यम से हर बार इन दोनों के नंबर संदेह में आए। कार्रवाई में सीतापुर जिले से राजेश रैदास को गिरफ्तार किया। वहीं कई लोगों ने इस हत्याकांड से व्यथित होकर आरोपियों का पुतला जलाकर विरोध जताया।

आरोपी राजेश संस्कृति राय से रेप करना चाहता था पर रेप की कोशिश में नाकाम होने के बाद उसने संस्कृति राय की हत्या कर दी। ये दोनों कई लड़कियों को शिकार बना चुके हैं। बलिया के भगवानपुर गांव निवासी अधिवक्ता उमेश कुमार राय की बेटी संस्कृति पॉलिटेक्निक की द्वितीय वर्ष की छात्र थी। उसकी हत्या करके बदमाशों ने शव को मड़ियांव स्थित घैला पुल के पास फेंक दिया था। 22 जून को घटना के समय वह घर के लिए निकली थी, लेकिन रेलवे स्टेशन पहुंचने से पहले ही उसकी हत्या कर दी गई।