सपने में आये एक आइडिया ने इस शख्स को बना दिया 2100 करोड़ का मालिक

- in अजब-गजब

नई दिल्ली: हर व्यक्ति चाहता है कि वह जीवन में अपना कुछ काम करे। लेकिन सबका यह सपना सच नहीं हो पाता है। सपने में भी कई बार आपको बिज़नेस का आइडिया आता होगा, लेकिन उठते ही मन बदल जाता है। लेकिन इस व्यक्ति ने अपने सपने को हक़ीक़त कर दिखाया और 2000 करोड़ का कारोबाद खड़ा कर दिया। यह कोई फ़िल्मी कहानी नहीं बल्कि असलियत है। दरअसल अमेरिका के रहने वाले माइक लिंडले को उनके बिज़नेस का आइडिया सपने में मिला और उन्होंने इसे सच कर दिखाया। आज माइक के पास 2100 करोड़ का कारोबार है।

सपने में आये एक आइडिया ने इस शख्स को बना दिया 2100 करोड़ का मालिक माइक को हर रात में सोने में दिक़्क़त होती थी, क्योंकि उन्हें उनका तकिया पसंद नहीं आता था। तकिया आरामदायक नहीं था, इसलिए उन्हें नींद नहीं आती थी। एक रात को अचानक से माइक की नींद खुली और उन्होंने घर के हर कोने में मायपिलो लिख दिया। यही पहला स्टेप था माइक के बिज़नेस की शुरुआत की। आज पूरे अमेरिका में माइक पिलो किंग के नाम से मशहूर हो गए हैं। लिंडले ने मायपिलो शुरुआत अपने होमटाउन चस्का से की। एक समय था जब लिंडले अपनी पढ़ाई का ख़र्च निकालने के लिए दो-दो नौकरी करते थे।

 

एक दिन उन्हें लगा कि वो पढ़ाई करके अपना समय बर्बाद कर रहे हैं। इसी वजह से माइक ने अपनी कॉलेज को बीच में ही छोड़ दिया और अपना पूरा ध्यान नौकरी पर ही लगा दिया। सबकुछ ठीक चल रहा था कि एक दिन मैनेजर से लड़ाई हो गयी और मैनेजर ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया। इसके बाद ही उन्होंने ख़ुद का बिज़नेस शुरू करने के बारे में सोचा। नौकरी छोड़कर माइक ने बिज़नेस में हाथ आज़माया। सबसे पहले उन्होंने कार्पेट क्लिनिंग का काम शुरू किया। इसके बाद उन्होंने सुअर पालन का काम शुरू किया। लेकिन मार्केट डाउन होने की वजह से सबकुछ बर्बाद हो गया। इसके बाद लिंडले ने एक बार में बारटेंडर का काम शुरू कर दिया।

 

बार में काम करते समय माइक को नशे की लत लग गयी। ड्रग्स की वजह से माइक की पत्नी ने तलाक़ दे दिया और अपने घर से भी हाथ धोना पड़ा। बिज़नेस भी चौपट हो गया, सबकुछ बर्बाद होने के बाद माइक को अचानक से होश आया और उन्होंने नए सिरे से शुरुआत की। 2011 में एक स्थानीय समाचार पत्र में माइक की कम्पनी के बारे में छपा। इसके बाद उन्होंने स्थानीय स्तर पर तकिया बनाकर बेचना शुरू कर दिया। इसमें भी उन्हें ज़्यादा सफलता नहीं मिली। एक दिन एक रिटेल स्टोर ने अपने यहाँ उन्हें तकिया बेचने का ऑफ़र दिया। इसके बाद उन्होंने 10.5 लाख उधार लेकर अपना स्टोर खोला और क्रिसमस पर 80 तकिए बेचे।

माइक ने 16 जनवरी 2009 को एक पार्टी में आख़िरी बार जमकर मस्ती की और शराब एवं कोकीन का सेवन किया, इसके बाद हमेशा के लिए छोड़ दिया। यह सब छोड़कर उन्होंने अपना पूरा ध्यान बिज़नेस पर लगाया। पहले 5 कर्मचारियों से अपनी कम्पनी की शुरुआत की। वर्तमान में माइक की कम्पनी में 500 कर्मचारी काम करते हैं। माइक की कम्पनी मायपिलो हर साल लगभग 3 करोड़ तकिए बेचती है। वहीं कम्पनी की रेवेन्यू 2100 करोड़ लगभग 30 करोड़ डॉलर तक पहुँच गयी है।

सभी बॉलीवुड तथा हॉलीवुड मूवीज को सबसे पहले फुल HD Quality में देखने के लिए यहाँ क्लिक करें