ससंदीय सचिव मामले को लेकर राष्‍ट्रपति से मिलेंगे AAP नेता

- in संपादकीय

aap_leaders_20161014_142946_14_10_2016नई दिल्ली। 21 संसदीय सचिव बनाने के मुद्दे पर घिरी आम आदमी पार्टी (AAP) ने अब विरोधियों को घेरने की तैयारी शुरू कर दी है। इस कड़ी आज AAP के तकरीबन आधा दर्जन वरिष्ठ नेता राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से शाम 6:15 बजे मुलाकात करेंगे। मुलाकात के बाद AAP नेता पत्रकारों से भी मुखातिब होंगे।

गौरतलब है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) के 21 विधायकों को सचिव बनाने का मुद्दा नया नहीं है। दिल्ली के अलावा, अरुणाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, मणिपुर, मिजोरम, मेघालय, नगालैंड और पंजाब में संसदीय सचिव को लेकर विवाद है।

AAP नेता आरोप लगाते रहे हैंं कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि किसी सरकार ने संसदीय सचिव रखे हों।छत्तीसगढ़, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान, नागालैंड जैसे कई राज्यों में सरकारों ने विधायकों को संसदीय सचिव बनाया हुआ है। इन सचिवों को बाकायदा बंग्ला, गाड़ी, ऑफिस, तनख्वाह, नौकर, ड्राइवर, कुक और चपरासी तक मिलता है।

इससे पहले AAP नेताओं ने प्रधानमंत्री पर हमला करते हुए कहा था कि अगर वो बनाएं तो वैध और आम आदमी पार्टी की सरकार बनाए तो अवैध। यह दिखाता है कि वो राजनीतिक द्वेष के चलते इसे मुद्दा बना रहे हैं और दिल्ली की जनता से अपनी हार का बदला ले रहे हैं।