साइको किलर की पत्नी ने किए चौंकाने वाले खुलासे

फरीदाबाद : पलवल में लगातार 6 लोगों की हत्याओं को अंजाम देने वाले आरोपी साइको किलर नरेश की पत्नी अैर बेटा घटना के बाद पहली बार सामने आई। रेवाड़ी रेंज के आईजी सीएस राव ने सनकी नरेश धनखड़ के ससुर कैप्टन धर्मपाल उसकी पत्नी सीमा को एसपी ऑफिस में बुलाकर पूछताछ की। जिसमें आरोपी की पत्नी ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। पूछताछ में सीमा ने बताया कि नरेश के साथ उसकी शादी तीन फरवरी 2007 को हुई थी। शादी के बाद वर्ष 2008 तक नरेश उसके साथ ठीक था, लेकिन 2008 में हुए चुनाव में ड्यूटी लगने के बाद अचानक उसका बर्ताव बदलने लगा था। वह बात-बात पर हिंसक होने लगा था। वर्ष 2009 में जब नरेश की ड्यूटी नूंह में थी तो पहली बार उसके साथ न सिर्फ मारपीट की, बल्कि उसका गला दबाकर मारने का प्रयास किया। उसके बाद वह किसी तरह से बचकर अपने घर पिता के पास आ गई। उसके बाद नरेश का बर्ताव लगातार बदलता रहा तथा हिंसक होता रहा। सीमा के अनुसार नरेश लगातार उसके साथ मारपीट करता रहा तथा कई बार उसका गला दबाने का प्रयास किया।

सीमा ने बताया कि नरेश अपने बेटे गतिक के साथ भी मारपीट करता था। एक बार नरेश ने अपने बेटे को गेट के बाहर खड़ा कर दिया तथा उसके बाद उसे लातों से मारना शुरू कर दिया था। उसके बाद वह अपने बेटे को लेकर घर आ गई। कैप्टन धर्मपाल मलिक ने बताया कि सीमा पिछले पांच साल से उनके पास ही रहती है और अक्सर नरेश आकर उनके घर पर गाली-गलौच करता था। जिसके चलते वे परेशान रहते थे और जब नरेश उनके घर आता था तो वे अपने घर का दरवाजा नहीं खोलते थे। दरवाजा नहीं खोलने पर अक्सर नरेश गली में गाली-गलौच कर लौट जाता था। उनकी बेटी सीमा भी नरेश से डरती थी, क्योंकि अक्सर छोटी-छोटी बातों पर नरेश उसके साथ मारपीट करता था।

आरोपी की पत्नी सीमा को मृतक लोगों के परिवार से हमदर्दी है। वह चाहती है कि नरेश ने जो अपराध किया उसके लिए उसे सजा मिलनी चाहिए। नरेश को मिलने वाली सजा से उन निर्दोष लोगों को केवल न्याय ही मिल सकता है, इसके अलावा कुछ नहीं। ऐसे में सरकार उन छह लोगों के परिवार को आर्थिक सहायता देने के साथ उनके परिवार के एक सदस्य को रोजगार दे, ताकि वे अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकें। इसके अलावा नरेश के स्थान पर उसे सरकारी नौकरी दे, ताकि वह अपना तथा अपने बेटे का भरण-पोषण कर सकें। नरेश की करनी की सजा उसे व उसके बेटे को नहीं मिलनी चाहिए।