सावन महीने में महिलाएं पहनती हैं हरी चूड़ियां

- in जीवनशैली

आस्था : श्रावण माह में बारिश के कारण पेड़-पौधे भी हरे-भरे हो जाते हैं। प्रकृति के इस बदलते रंग के साथ-साथ महिलाओं का श्रृंगार भी बदल जाता है। इस महीने में महिलाएं हरे रंग के वस्त्र और हरे रंग की चूड़ियां पहनती हैं। लेकिन क्या आपने गौर किया है कि सावन के महीने में औरतें आखिर हरे रंग की चूड़ियां ही क्यों पहनती हैं।

दरअसल, सावन का मतलब रोमांस, रोमांस का मतलब श्रृंगार और श्रृंगार का मतलब महिलाएं सावन में हरा रंग पहनकर न सिर्फ हम प्रकृति के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं बल्कि यह रंग हमारे भाग्य को भी प्रभावित करता है। इस खास महीने लड़कियां हरे रंग की चुड़ियां क्यों पहनती हैं, आइए जानते हैं।

मान्यता है की यह रंग प्रकृति का होता है और इस रंग की चूड़ियां तथा कपड़े पहनकर हम प्रकृति के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं। यह भी माना जाता है इस माह में हरे रंग की चूड़ियां पहनने के पीछे किस्मत कनेक्शन भी होता है। जिस प्रकार से लाल रंग एक सुहागन स्त्री के जीवन में सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। उसी प्रकार से हरा रंग भी उसके वैवाहिक जीवन में खुशहाली का प्रतीक माना जाता है। माना जाता है इस माह में यदि स्त्री हरे रंग की चूड़ियां पहनती हैं तो उसको भगवान शिव का आशीष मिलता है और उसके पति की उम्र भी लंबी होती है।