सीएम योगी बोले, गोरखपुर मेडिकल कालेज में रोग और गंदगी से हुई मौतें

इलाहाबाद। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को इलाहाबाद में कहा कि गोरखपुर मेडिकल कालेज में रोग और गंदगी के कारण मौतें हुई हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटे में वहां जो कुछ भी हुआ है वह गलत हुआ है, जांच कराई जा रही है। किसी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। मुख्यमंत्री जिलों के दौरे के क्रम में आज इलाहाबाद में थे। यहां उन्होंने गंगा ग्राम सम्मेलन का उद्घाटन किया और जिले के 122 गावों को खुले में शौच मुक्त घोषित किया। इस दौरान अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि गंदगी के कारण ही बीमारियां होती हैं। उन्होंने कहा कि गोरखपुर में भी बीते पांच-छह दिन में जो मौतें हुई हैं, उनका कारण गंदगी ही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर तथा आस पास का इलाका वर्ष 1978 से इन्सेफ्लाइटिस जैसी गंभीर बीमारी से त्रस्त है। उन्होंने कहा कि इस बीमारी का वायरस गंदगी तथा गंदे पानी में पनपता है। जिसके कारण लोग बीमार होते हैं। अगर हम साफ-सफाई से रहेंगे तो बीमारी नही होगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश भर में स्वच्छता का अभियान चला रखा है। हमें भी स्वच्छता पर ध्यान देना होगा। तभी गंभीर बीमारियों से लोगों को असमय मरने से बचा सकेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की प्रेरणा से हम सफाई अभियान में लगे हैं। हमारा प्रयास है कि हम अक्टूबर 2018 तक प्रदेश को खुले में शौच से मुक्त कर देंगे। उन्होंने इसके लिए जन सहयोग की भी अपेक्षा की। योगी ने कहा कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में जो मौतें हुई हैं, वे भी इन्सेफेलाइटिस और गन्दगी की वजह से हुई है। लेकिन, वहां जो कुछ भी हुआ है वह गलत हुआ है। पूरे घटना की जांच कराई जा रही है। किसी भी दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा। इस मामले में कड़ी कार्रवाई होगी ताकि भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो पाए।

loading...