हर तीन साल में कब्र से निकाली जाती हैं रिश्तेदारों की लाश…

- in फीचर्ड1

कहते हैं जो आया है वो जायेगा ही. ये सभी ने देखा है, आखिर कोई अपनों के साथ कब तक रह सकता है. लेकिन ऐसा नहीं है कि मरने के बाद उनके घरवाले उन्हें भूल जाते हैं. दुनिया में कई तरह की रिवाज माने जाते हैं वैसे एक आज हम भी बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आपको भी यकीन नहीं होगा. इंडोनेशिया के एक गांव में एक अजीब सा रिवाज माना जाता है. आपको बता दे, इंडोनेशिया के ग्रामीण क्षेत्रों में भी अपने पूर्वजों के प्रति स्नेह जताने के लिए एक रिवाज़ निभाया जाता है. इन गांवों में अपने मरे हुए परिजनों की लाश को हर तीन साल के बाद कब्र से निकाल कर उन लाशों की सफाई की जाती है और उन्हें नये-नये कपड़े पहनाएं जाते हैं.हर तीन साल में कब्र से निकाली जाती हैं रिश्तेदारों की लाश...

* जैसा की आप इन तस्वीर में देख सकते हैं ये है Herman Tandi जो अपने दादा दादी की लाश के साथ है. इनकी मौत दस साल पहले हो चुकी है. इस अजीब रिवाज में परिवार के सभी लोग अपने मृत रिश्तेदारों के साथ मिल कर फोटो भी खिंचवाते हैं. यह रिवाज़ हर तीन साल में कब्रिस्तान के एक त्यौहार के जैसा मनाया जाता है.

* यह तस्वीर एक भूतपूर्व आर्मी ऑफिसर की हैं. जिनके रिश्तेदारों को उनके आर्मी में होने पर नाज़ था इसलिए आज भी उसे आर्मी की यूनिफार्म पहनाते है.

* यह लाश ‘Paul Sampe Lumba’ नाम के एक शख्स की है. यह 7 साल पहले मर गये थे. इनके परिवार वालों ने इन्हें नये सूट के साथ नये चश्मे भी पहनाएं हैं. दुनिया की सभी संस्कृतियों में अपने मृत परिजनों को याद करने के लिए अलग-अलग रीति-रिवाज़ बनाये गये हैं. स्थानीय माहौल और परम्पराएं उन रिवाजों को कभी-कभी इसी तरह का अनोखापन दे देते हैं.