11वीं क्लास में ही पत्नी को दिल दे बैठे थे रवि किशन

- in मनोरंजन

भोजपुरी सुपरस्टार रवि किशन इस बार भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर गोरखपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे. ये बीजेपी की परंपरागत सीट है. हालांकि योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद हुए उपचुनाव में बीजेपी ये सीट हार गई थी. बीजेपी की हार से पार्टी की काफी किरकिरी हुई थी. अब बीजेपी को ये सीट जिताने का जिम्मा भोजपुरी सुपरस्टार रवि किशन के कंधों पर है.

बताते चलें कि रवि किशन गोरखपुर सीट पर चुनाव लड़ने वाले भोजपुरी सिनेमा के दूसरे दिग्गज हैं. रवि किशन से पहले इस सीट पर भोजपुरी सिंगर और एक्टर मनोज तिवारी ने भी चुनाव लड़ा था. हालांकि उन्हें योगी आदित्यनाथ के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. बाद में मनोज तिवारी बीजेपी में शामिल हो गए. मनोज इस वक्त दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद हैं. वैसे भोजपुरी फिल्मों के दिग्गज स्टार रवि किशन भी 2014 में कांग्रेस के टिकट पर जौनपुर से चुनाव लड़ चुके हैं. रवि किशन काफी लोकप्रिय हैं और उनकी निजी लाइफ भी दिलचस्प है.

11वीं क्लास में दे बैठे दिल-

रवि किशन की स्वभाव और उनके व्यक्तित्व की ही तरह उनकी प्रेम कहानी भी दिलचस्प है. 2012 में टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक रवि किशन की मुलाकात उनकी पत्नी प्रीति से 11वीं कक्षा में हुई थी. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ प्रीति को उन्होंने 11वीं क्लास में ही दिल दे दिया था. बाकी तमाम कलाकारों की तरह रवि किशन के करियर का एक लंबा दौर भी स्ट्रगल से भरा रहा, और इस पूरे वक्त में प्रीति रवि के साथ रहीं.

महिलाओं के प्रति सम्मान-

2013 के एक इंटरव्यू में रवि किशन ने बताया कि वह महिलाओं के हमेशा से करीबी रहे हैं. चाहे वह उनकी पत्नी हों, माता हों या उनकी बेटी. रवि के परिवार की बात करें तो रवि और प्रीति चार बच्चों के माता पिता हैं. उनकी तीन बेटियां और एक बेटा है.

रवि किशन का बॉलीवुड करियर-

रवि किशन ने भोजपुरी फिल्मों के अलावा तमाम बॉलीवुड फिल्मों में भी काम किया है. साल 2009 में रिलीज हुई मल्टीस्टारर फिल्म लक में वह संजय दत्त और मिथुन चक्रवर्ती के साथ नजर आए थे. लक के अलावा रवि किशन कई फिल्मों में नजर आ चुके हैं.

रवि किशन का बचपन और पढ़ाई-

भोजपुरी सुपरस्टार रवि किशन का पूरा नाम रवि किशन शुक्ल है और वह मूल रूप से जौनपुर जिले के रहने वाले हैं. जौनपुर के बिसुईं गांव में वह जन्मे और पढ़ाई भी उन्होंने वहीं पर की. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ रवि किशन के पिता एक पुजारी हैं, उन्होंने मुंबई आने के बाद लंबे वक्त तक स्ट्रगल किया.