11 महीने बाद स्पेन से आजादी के लिए सड़क पर उतरे कैटालोनिया के 10 लाख लोग

स्पेन के प्रांत कैटालोनिया में एक बार फिर आजादी की मांग के साथ लोग सड़कों पर उतर आए हैं। 11 सितंबर को कैटालोनिया डे के साथ ही करीब 10 लाख लोगों ने सड़कों पर हुंकार भरी। इसके साथ-साथ करीब 5 लाख लोगों ने इंटरनेट के जरिये ऑनलाइन पोल में हिस्सा लेकर इन प्रदर्शनों का समर्थन किया है।

11 महीने बाद स्पेन से आजादी के लिए सड़क पर उतरे कैटालोनिया के 10 लाख लोग

कैटालोनिया डे के साथ शुरू हुआ आंदोलन 3 दिन से जारी है 

स्पेन का दूसरा सबसे शहर बार्सिलोना पूरी तरह जाम हो चुका है। बार्सिलोना की सड़कों पर 15 किमी से भी लंबी मानव श्रृंख्ला बनाई गई है। आजादी के नारों के साथ प्रदर्शनकारी कैटालोनिया को स्पेन से अलग करवाना चाहते हैं।

पिछले साल हुए जनमत संग्रह को स्पेन ने असंवैधानिक बताया 

पिछले साल सितंबर में भी इसी तरह का बड़ा आंदोलन हुआ था। जिसके बाद एक अक्टूबर 2017 को जनमत संग्रह कराया गया। 27 तारीख को इस जनमत संग्रह का नतीजा आना था, लेकिन इससे पहले ही स्पेन की संवैधानिक अदालत ने जनमत संग्रह के तरीकों को असंवैधानिक करार दे दिया। इसके बाद कुछ अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार भी किया गया था। अब प्रदर्शनकारी अपने उन गिरफ्तार नेताओं की रिहाई की भी मांग कर रहे हैं।

…पर शाम को ठीक 5 बजकर 14 मिनट पर हो जाता है सन्नाटा

शाम 5 बजकर 14 मिनट का 24 घंटे की घड़ी में मतलब हुआ 17 बजकर 14 मिनट। 1714 में कैटालोनिया, स्पेन में मिला था। इसलिए इस वक्त एक मिनट के लिए प्रदर्शन रोक दिया जाता है।

46 फीसदी लोगों ने जनमत संग्रह में अलग राज्य का समर्थन किया था 

इस साल जुलाई में जनमत संग्रह जैसा ही एक ऑनलाइन पोल कराया गया। इसमें करीब 46 फीसदी लोगों ने कहा कि उन्होंने जनमत संग्रह में कैटालोनिया की आजादी का समर्थन किया था।

1714 में स्पेन में मिला था कैटालोनिया। बार्सिलोना कैटालोनिया का सबसे बड़ा शहर है और कैटालोनिया की राजधानी भी है। स्पेन की 16 फीसदी आबादी कैटालोनिया में रहती है।